GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 9 निर्भय बनो

   

Gujarat Board GSEB Hindi Textbook Std 9 Solutions Chapter 9 निर्भय बनो Textbook Exercise Important Questions and Answers, Notes Pdf.

GSEB Std 9 Hindi Textbook Solutions Chapter 9 निर्भय बनो

Std 9 GSEB Hindi Solutions निर्भय बनो Textbook Questions and Answers

स्वाध्याय

1. निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दीजिए :

प्रश्न 1.
प्रियोदा को सभी लोग क्यों प्यार करते है?
उत्तर :
प्रियोदा बहुत सेवाभावी लड़का है। प्रत्येक रविवार को वह “संन्यासी आश्रम’ के लिए मुठिया वसूलने निकलता है। स्कूल का कोई छात्र या शिक्षक बीमार हो जाए तो प्रियोदा अपने साथियों के साथ उसकी देखभाल के लिए पहुंच जाता है। वह तब तक उसकी सेवा करता है, जब तक वह पूरी तरह भला-चंगा नहीं हो जाता। अपने साथियों के साथ प्रियोदा बहुत आत्मीय व्यवहार करता है। वह उनके गुणों को विकसित करता और उन्हें निर्भय बनाता है। किसी के बारे में अपशब्द बोलना उसे पसंद नहीं है। इस प्रकार प्रियोदा की सेवाभावना तथा स्नेहपूर्ण स्वभाव के कारण उसे सब प्यार करते हैं।

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 9 निर्भय बनो

प्रश्न 2.
प्रियोदा के दल के तीन सदस्यों के नाम बताइए।
उत्तर :
प्रियोदा के दल के तीन सदस्य – मनमोहन, सूर्यनारायण और इब्राहीम। मनमोहन खूब तेज लड़का है। उसका गला बहुत मीठा है। उसे गाने का शौक है। उसके गाने की सभी प्रशंसा करते हैं। सूर्यनारायण पढ़ने में कमजोर है पर उसका शरीर मजबूत है, क्योंकि वह रोज एक-सौ दंड-बैठक करता है। वह दल के सदस्यों को तैरना सिखाता है। इब्राहीम को अपशब्द ‘साला’ बोलने की आदत है। सरकारी अफसरों को ‘साला’ बोलने में उसे कोई बुराई नहीं लगती। वह दलीलबाजी करता है, फिर भी क्लब के नियमों का पालन करता है।

प्रश्न 3.
प्रियोदा की टोली कौन-कौन से सेवा कार्य करती है?
उत्तर :
प्रियोदा की टोली सेवाभावी लड़कों का दल है। यह टोली हर रविवार को सुबह ‘संन्यासी आश्रम’ के लिए मुठिया वसूलती है। इसके लिए उसे कस्बे के मुहल्लों में जाना पड़ता है। स्कूल का कोई छात्र या शिक्षक बीमार पड़ता है तो प्रियोदा की यह टोली उसके घर पहुंच जाती है। टोली के सदस्य रोगी के पूरी तरह स्वस्थ हो जाने तक उसकी सेवा करते हैं। हैजा जैसी बीमारियों में यह टोली लोगों के लिए वरदान बन जाती है। इस प्रकार प्रियोदा की टोली कई तरह के सेवाकार्य करती है।

प्रश्न 4.
मनमोहन को तैरना सिखाने की जिम्मेदारी किसे सौंपी गई?
उत्तर :
मनमोहन को तैरना सिखाने की जिम्मेदारी दल के सदस्य सूर्यनारायण को सौंपी गई। सूर्यनारायण रोज एक-सौ दंड-बैठक करता था। वह मजबूत शरीर का लड़का था। दल के सदस्यों को वही तैरना सिखाता था। सूर्यनारायण ने कहा कि एक दिन उठाकर पानी में फेंक दूंगा, तो खुद तैरने लगेगा।

प्रश्न 5.
इब्राहीम ने किस बात के लिए माफ़ी माँगी?
उत्तर :
प्रियोदा के दल का नियम था कि कोई सदस्य मुंह से किसी प्रकार का अपशब्द या गाली नहीं निकालेगा। इब्राहीम ने सबडिप्टी साहब के अर्दली के लिए ‘साला’ अपशब्द बोला था। इस तरह उसने दल के नियम को तोड़ा था। प्रियोदा के ‘हॉल्ट’ कहने पर उसे अपनी गलती का एहसास हुआ। इसलिए अपनी गलती के लिए उसने माफी मांगी।

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 9 निर्भय बनो

प्रश्न 6.
अपशब्द न बोलने के बारे में क्लब का क्या नियम था?
उत्तर :
प्रियोदा वाणी के शिष्टाचार को महत्त्व देता था। इसलिए उसने यह नियम बनाया था कि दल का कोई सदस्य किसी प्रकार का अपशब्द या गाली अपने मुंह से नहीं निकालेगा। अपशब्द या गाली देने पर ‘हॉल्ट’ बोलकर उसे चेतावनी दी जाती थी। ‘दस’ से अधिक बार अपशब्द या गाली मुंह से निकालने पर क्लब के सदस्य उसका साथ छोड़ देते थे। इस प्रकार अपशब्द न बोलने के बारे में क्लब का कठोर नियम था।

2. निम्नलिखित प्रश्नों के एक-एक वाक्य में उत्तर लिखिए :

प्रश्न 1.
प्रियोदा के दल के सदस्य शनिवार की शाम को कहाँ पर एकत्र होते हैं?
उत्तर :
प्रियोदा के दल के सदस्य शनिवार की शाम को परमान नदी के उस पार ‘बालूचर’ पर एकत्र होते हैं।

प्रश्न 2.
स्कूल की छुट्टी के बाद सभी सदस्य मिलने पर क्या करते हैं?
उत्तर :
स्कूल की छुट्टी के बाद सभी सदस्य मिलने पर रविवार का प्रोग्राम तय करते हैं।

प्रश्न 3.
मनमोहन ने प्रियोदा के पहले प्रश्न के उत्तर में किस भारतीय महापुरुष का नाम लिया?
उत्तर :
मनमोहन ने प्रियोदा के पहले प्रश्न के उत्तर में महात्मा गांधी का नाम लिया।

प्रश्न 4.
पक्षी को किसने गोली मारी थी?
उत्तर :
पक्षी को गोली सब-डिप्टी साहब ने मारी थी।

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 9 निर्भय बनो

प्रश्न 5.
प्रियोदा के मुँह से ‘हॉल्ट’ क्यों निकला?
उत्तर :
‘साला’ शब्द के प्रयोग पर इब्राहीम को उसकी गलती का एहसास कराने के लिए प्रियोदा के मुंह से ‘हॉल्ट’ शब्द निकला।

प्रश्न 6.
सड़क के दोनों ओर कौन-से वृक्ष थे?
उत्तर :
सड़क के दोनों ओर पीपल के बड़े-बड़े वृक्ष थे।

3. निम्नलिखित प्रश्नों के दो-तीन वाक्यों में उत्तर लिखिए :

प्रश्न 1.
कस्बे के अधिकांश लोग प्रियोदा और साथियों को क्यों पहचानते थे?
उत्तर :
प्रियोदा और उसके साथी हर रविवार की सुबह ‘संन्यासी आश्रम’ के लिए मुठिया मांगकर लाते थे। स्कूल के किसी छात्र या शिक्षक के बीमार पड़ने पर वे उसके अच्छे होने तक उसकी सेवा करते थे। उनके इसी सेवाभाव के कारण कस्बे के अधिकांश लोग प्रियोदा और उसके साथियों को पहचानते थे।

प्रश्न 2.
प्रियोदा की दोली शनिवार को स्कूल से छूटने के बाद क्या करती है?
उत्तर :
शनिवार को स्कूल से छूटने के बाद प्रियोदा की टोली बालूचर पर जमा होती है। खेल-कूद, गाने-बजाने के बाद प्रियौदा दुनियाभर की खबरें सुनाते हैं। फिर वे रविवार की सेवा का कार्यक्रम तय करते हैं।

प्रश्न 3.
मनमोहन को तैरता सिखाने के बारे में सूर्यनारायण ने क्या कहा?
उत्तर :
मनमोहन को तैरना सिखाने की जिम्मेदारी सूर्यनारायण को सौंपी गई थी। इस बारे में उसने कहा कि एक दिन उसे उठाकर पानी में फेंक दूंगा, तो खुद तैरने लगेगा।

प्रश्न 4.
पुल के पास गाड़ीवान क्या कर रहा था?
उत्तर :
प्रियोदा के दल के सभी सदस्य घर लौट रहे थे। उन्होंने देखा कि पुल के पास एक गाडीवान तन्मय होकर एक लोकगीत गा रहा था।

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 9 निर्भय बनो

प्रश्न 5.
मनमोहन का भय दूर करने के लिए प्रियोदा ने क्या किया?
उत्तर :
मनमोहन का भय दूर करने के लिए प्रियोदा उसे उस रास्ते से ले गए जो बिल्कुल सुनसान और डरावना था। उन्होंने मनमोहन को वह उजड़ा मकान दिखाया जहाँ पहले मुर्दो की चीर-फाड़ होती थी। लोग मानते थे कि वहाँ आसपास के पेड़ों पर अब भी भूत-पिशाच रहते हैं और प्रेतनियाँ झुंड बनाकर नाचती हैं।

प्रश्न 6.
भूत-प्रेत के बारे में प्रियोदा ने मनमोहन से क्या कहा?
उत्तर :
भूत-प्रेत के बारे में प्रियोदा ने मनमोहन से कहा कि दस काम करनेवाला तो खुद भूत होता है। जो खुद भूत है, उसे दूसरे भूत से क्या डर?

प्रश्न 7.
प्रियोदा की टोली का रविवार को क्या कार्यक्रम होता था?
उत्तर :
रविवार को प्रियोदा की टोली पहले से निर्धारित मुहल्ले में मुठिया वसूलने जाती थी। इसी तरह टोली के कुछ लोग बीमार व्यक्ति की सेवा करने जाते थे।

4. सविस्तार समजाइए :

प्रश्न 1.
सूरज पश्चिम की ओर झुक गया।
उत्तर :
प्रियोदा और उसके साथी बहुत देर तक बातें करते रहे। धीरे-धीरे शाम होने को आई। सूर्य पश्चिम दिशा में डूबने की तैयारी करने लगा।

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 9 निर्भय बनो

प्रश्न 2.
दस और देश का काम करनेवाला तो खुद भूत होता है- उसको भूत क्या कर सकता है?
उत्तर :
दस का और देश का काम करनेवाले को समय-असमय यहाँ-वहाँ जाना पड़ता है। वह न दिन देखता है, न रात, जो करना है, उसे करने चल पड़ता है। कहीं पर भी और किसी भी रास्ते से जाने में वह नहीं डरता। इस तरह वह खुद भी भूत बन जाता है। तुमको भी दस और देश का काम करने के लिए इसी तरह भूत बनना है। इसलिए तुम्हें निर्भय बनना चाहिए।

प्रश्न 3.
राम रहीम ना जुदा करो भाई, दिल को सच्चा रखना जी…
उत्तर :
राम और रहीम दोनों एक ही ईश्वर के दो अलग-अलग नाम हैं। दोनों को अलग-अलग समझना भूल है। मन की पवित्रता जरूरी है। मन पवित्र हो तो राम और रहीम का भेद अपने आप मिट जाता है।

प्रश्न 4.
भोला गरीबक दीन-पहिया हरब भोला…
उत्तर :
टिप्पणी : यह उद्धरण आंचलिक बोली का होने से और इकाई (पाठ) में इसका सीधा संदर्भ न मिलने से यहाँ इसका उत्तर नहीं दिया गया।

5. सही जोड़े मिलाइए:

प्रश्न 1.

  1. मनमोहन – पहलवान
  2. प्रियव्रतराय – खचड़ा
  3. सूर्यनारायण – एक नदी
  4. डिप्टी का अर्दली – मैट्रिक का विद्यार्थी
  5. परमान – हैजे से डरनेवाला

उत्तर :

  1. मनमोहन – हैज़े से डरनेवाला
  2. प्रियव्रत राय – मैट्रिक का विद्यार्थी
  3. सूर्यनारायण – पहलवान
  4. डिप्टी का अर्दली – खचड़ा
  5. परमान – एक नदी

6. शब्द समूहो के लिए एक-एक शब्द लिखिए :

प्रश्न 1.

  1. दूसरों के किए हुए उपकार को माननेवाला……
  2. दसरों के किए गए उपकार को न माननेवाला…….
  3. मुर्दो के चीर-फाड़ की जगह………
  4. जहाँ बीमारों को भर्ती करके इलाज होता है……

उत्तर :

  1. कृतज्ञ
  2. कृतघ्न
  3. पोस्टमार्टम हाउस
  4. अस्पताल

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 9 निर्भय बनो

7. सूचनानुसार उत्तर दीजिए :

प्रश्न क.
विरुद्धार्थी शब्द लिखिए:

  1. गरीब
  2. प्यार
  3. स्वस्थ
  4. गलत
  5. उजड़ा

उत्तर :

  1. अमीर
  2. नफरत
  3. अस्वस्थ
  4. सही
  5. हराभरा

प्रश्न ख.
दो-दो समानार्थी शब्द लिखिए:

  1. सुबह
  2. शाम
  3. दल
  4. कमज़ोर
  5. मकान

उत्तर :

  1. प्रभात
  2. साँझ
  3. झुंड
  4. दुर्बल
  5. घर

GSEB Solutions Class 9 Hindi निर्भय बनो Important Questions and Answers

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर एक-एक वाक्य में लिखिए :

प्रश्न 1.
कालू ने मनमोहन के बारे में प्रियोदा से क्या कहा?
उत्तर :
कालू ने मनमोहन के बारे में प्रियोदा से कहा कि यह बहुत तेज लड़का है और आपके क्लब का सदस्य बनना चाहता है।

प्रश्न 2.
मनमोहन (मोना) को घर पहुंचाने के लिए कौन उसके साथ गया? क्यों?
उत्तर :
मनमोहन अकेले घर जाने में डरता था। इसलिए प्रियोदा उसके साथ गया।

प्रश्न 3.
उजड़े हुए मकान में पहले क्या होता था?
उत्तर :
उजड़े हुए मकान में पहले मुर्दो की चीर-फाड़ होती थी।

प्रश्न 4.
प्रियोदा के अनुसार दस का काम करनेवाला भूत से क्यों नहीं डरता?
उत्तर :
प्रियोदा के अनुसार दस का काम करनेवाला भूत से नहीं डरता, क्योंकि वह तो खुद भूत होता है।

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 9 निर्भय बनो

प्रश्न 5.
मुठिया वसूलने कौन जाता है?
उत्तर :
मुठिया वसूलने प्रियव्रत राय जाता है।

प्रश्न 6.
मनमोहन (मोना) किसके नाम से डरता है?
उत्तर :
मनमोहन (मोना) हैज़ा के नाम से डरता है।

प्रश्न 7.
कालू ने किसे तेज लड़का बताया?
उत्तर :
कालू ने मनमोहन को तेज लड़का बताया।

प्रश्न 8.
मनमोहन (मोना) पढ़-लिखकर क्या बनना चाहता था?
उत्तर :
मनमोहन (मोना) पढ़-लिखकर वकील बनना चाहता था।

प्रश्न 9.
महात्मा गांधी को लोग क्या समझते हैं?
उत्तर :
महात्मा गांधी को लोग भगवान का अवतार समझते हैं।

सही विकल्प चुनकर रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए :

प्रश्न 1.

  1. एक दिन उठाकर ……. में फेंक दूंगा, खुद तैरने लगेगा। (नदी, झील)
  2. सूर्यनारायण पड़ने में ………. है। (कमज़ोर, तेज)
  3. दल का नियम था कि कोई सदस्य ………… न बोले। (अपशब्द, अंग्रेजी)
  4. मोना पढ़-लिखकर ……… बनना चाहता है। (प्रोफेसर, वकील)
  5. सैलानियों की पंक्तियाँ …….. दौड़ाती नजर आती हैं। (बकरियाँ, घोड़े)

उत्तर :

  1. नदी
  2. कमज़ोर
  3. अपशब्द
  4. वकील
  5. घोड़े

निम्नलिखित विधान ‘सही’ है या ‘गलत’ यह बताइए :

प्रश्न 1.

  1. प्रियोदा अपनी क्लब का मंत्री था।
  2. प्रियोदा ने इब्राहीम को गाली देने पर चेतावनी दी।
  3. गाड़ीवान तन्मय होकर विद्यापति का गीत गा रहा था।
  4. मनमोहन सूने रास्ते से जाने में डरता नहीं था।

उत्तर :

  1. गलत
  2. सही
  3. सही
  4. गलत

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 9 निर्भय बनो

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर एक-एक शब्द में लिखिए :

प्रश्न 1.

  1. प्रियोदा किस क्लास में पढ़ता था?
  2. मोना (मनमोहन) क्या जानता था?
  3. सूर्यनारायण को उसके साथी क्या कहते थे?

उत्तर :

  1. मैट्रिक में
  2. गाना
  3. सूरज पहलवान

निम्नलिखित वाक्य कौन – किससे कहता है? – यह लिखिए :

प्रश्न 1.

  1. “तुम पढ़-लिखकर क्या बनना चाहते हो?”
  2. “वाह! बहुत मीठा गला है तुम्हारा।”
  3. “बात यह है कि साले ने ….”
  4. “तुम्हारा मुंह खराब होगा। उनका कुछ भी नहीं बिगड़ेगा।”
  5. “मोना, तू रास्ते में डरेगा, मैं जानता हूँ। चल, मैं पहुंचा दूं।”
  6. “मोना डरता है? मैं उसे पहुंचा दूंगा। तू घर जा कालू।”

उत्तर :

  1. प्रियोदा ने मनमोहन से कहा।
  2. प्रियोदा ने मनमोहन से कहा।
  3. इब्राहीम ने प्रियोदा के दल से कहा।
  4. प्रियोदा ने इब्राहीम से कहा।
  5. कालू ने मोना से कहा।
  6. प्रियोदा ने कालू से कहा।

सही वाक्यांश चुनकर निम्नलिखित विधान पूर्ण कीजिए :

प्रश्न 1.
हैजे के रोगी की सेवा के प्रश्न पर मनमोहन चुप रहा, क्योंकि …
(अ) उसने इस बीमारी का नाम ही नहीं सुना था।
(ब) इस बस्ती में कभी यह बीमारी नहीं हुई थी।
(क) इस बीमारी के नाम से ही उसे डर लगता था।
उत्तर :
हैजे के रोगी की सेवा के प्रश्न पर मनमोहन चुप रहा, क्योंकि इस बीमारी के नाम से ही उसे डर लगता

प्रश्न 2.
इब्राहीम ने यह गलती की थी कि …
(अ) उसने दल के नियम के विरुद्ध अर्दली के लिए ‘साला’ शब्द का प्रयोग किया था।
(ब) यह अब तक शनिवार की मीटिंग में नहीं आया था।
(क) उसने प्रियोदा से व्यर्थ की दलीलबाज़ी की थी।
उत्तर :
इब्राहीम ने यह गलती की थी कि उसने दल के नियम के विरुद्ध अर्दली के लिए ‘साला’ शब्द का प्रयोग किया था।

प्रश्न 3.
प्रियोदा मनमोहन को घर पहुंचाने गए, क्योंकि …
(अ) वह अस्वस्थ हो गया था।
(ब) रास्ते में उसे डर लगता था।
(क) वह रास्ता उसके लिए अनजाना था।
उत्तर :
प्रियोदा मनमोहन को घर पहुंचाने गए, क्योंकि रास्ते में उसे डर लगता था।

निम्नलिखित प्रश्नों के साथ दिए गए विकल्पों से सही विकल्प चुनकर उत्तर लिखिए :

प्रश्न 1.
प्रियोदा मुठिया वसूलने किस दिन जाता है?
A. शनिवार को
B. रविवार को
C. सोमवार को
D. मंगलवार को
उत्तर :
B. रविवार को

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 9 निर्भय बनो

प्रश्न 2.
भारतवर्ष का ऐसा आदमी जिसे लोग भगवान का अवतार समझते हैं।
A. गांधीजी
B. सरदार
C. टैगोर
D. विनोबाजी
उत्तर :
A. गांधीजी

प्रश्न 3.
मोहन कैसा लड़का है?
A. चालाक
B. तेज़
C. बहादुर
D. सच्चा
उत्तर :
B. तेज़

प्रश्न 4.
इब्राहीम की किस नंबर की गाली पर उसे सचेत किया गया?
A. सातवीं
B. आठवीं
C. नवीं
D. दसौं
उत्तर :
B. आठवीं

प्रश्न 5.
मोना के गौत की तारीफ किसने की?
A. इब्राहीम ने
B. कृत्यानंद ने
C. सूरज ने
D. प्रियोदा ने
उत्तर :
D. प्रियोदा ने

प्रश्न 6.
प्रियव्रत राय क्या वसूलने निकलता है?
A. किराया
B. शुल्क
C. मुठिया
D. चंदा
उत्तर :
C. मुठिया

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 9 निर्भय बनो

प्रश्न 7.
तैरना कौन नहीं जानता था?
A. रोबी
B. प्रियोदा
C. कृत्यानंद
D. मोना
उत्तर :
D. मोना

प्रश्न 8.
भूत-प्रेत ऐसे आदमी को कभी तंग नहीं करता जो …
A. कुछ काम नहीं करता हो
B. ‘दस’ काम करता हो
C. गुरु हो
D. गाना जानता हो
उत्तर :
B. ‘दस’ काम करता हो

निम्नलिखित शब्दों के पर्यायवाची शब्द लिखिए :

प्रश्न 1.

  1. आग्रह
  2. तन्मय
  3. विकल
  4. हर्ज
  5. हैजा
  6. पखेरू
  7. खचड़ा
  8. बूझना
  9. डैना

उत्तर :

  1. अनुरोध
  2. तल्लीन
  3. व्याकुल
  4. नुकसान
  5. कॉलेरा
  6. पक्षी
  7. मूर्ख
  8. समझना
  9. पंख

निम्नलिखित शब्दों के विरोधी शब्द लिखिए :

प्रश्न 1.

  1. इच्छा
  2. बीमार
  3. आग्रह

उत्तर :

  1. अनिच्छा
  2. स्वस्थ
  3. निराग्रह

निम्नलिखित प्रत्येक वाक्य में से भाववाचक संज्ञा पहचानकर लिखिए :

प्रश्न 1.

  1. प्रियोदा सबको दुनियाभर की खबर सुनाते थे।
  2. वाह! बहुत मिठास है आपके गले में।
  3. धर्मशाला के पास आकर सभी ने एक-दूसरे से बिदाई लो।
  4. तुम्हारी उम्र में मुझे भी डर लगता था।
  5. पढ़ने में तनीश की तन्मयता बढ़ती जाती है।

उत्तर :

  1. खबर
  2. मिठास
  3. बिदाई
  4. डर
  5. तन्मयता

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 9 निर्भय बनो

निम्नलिखित प्रत्येक वाक्य में से विशेषण पहचानकर लिखिए।

प्रश्न 1.

  1. सूर्यनारायण पढ़ने में कमज़ोर है।
  2. लेकिन सरकारी अफसरों को गाली देने में क्या हर्ज है?
  3. आपस में बातचीत के सिलसिले में कोई खराब शब्द नहीं बोलेगा।
  4. इब्राहीम महीन बात देरी से बूझता है।
  5. उसका जोड़ा विकल होकर देर तक रोता रहा।
  6. प्रियोदा का दल बीमार लोगों की सेवा करता है।

उत्तर :

  1. कमज़ोर
  2. सरकारी
  3. खराब
  4. महीन
  5. विकल
  6. बीमार

निम्नलिखित प्रत्येक वाक्य में से कर्तृवाचक संज्ञा पहचानकर लिखिए।

प्रश्न 1.

  1. गंतव्य आते ही गाड़ीवान ने गाड़ी रोक दी।
  2. दिनकर के निकलते ही संसार भर में प्रकाश फैल गया।
  3. शिक्षा देते हुए शिक्षक ने अपने शिष्यों को जीवन-संदेश भी दिया।
  4. खेल दौरान खिलाड़ी ने अपने सारे कौशल दिखाए।
  5. कहानीकार ने अपनी कहानी की कथावस्तु का बीज एक सत्य घटना से लिया।

उत्तर :

  1. गाड़ीवान
  2. दिनकर
  3. शिक्षक
  4. खिलाड़ी
  5. कहानीकार

निम्नलिखित शब्दसमूह के लिए एक शब्द लिखिए :

प्रश्न 1.

  1. पुराना टूटा हुआ मकान या इमारत
  2. रेतीला नदी-पट
  3. खराब या असभ्य शब्द

उत्तर :

  1. खंडहर
  2. बालूचर
  3. अपशब्द

निम्नलिखित मुहावरों के अर्थ देकर वाक्य में प्रयोग कीजिए :

मुठिया वसूलना – किसी अच्छे काम के लिए मुट्ठी-मुद्रीभर अनाज लोगों से मांगना
वाक्य : देखो, मुठिया वसूलकर वह बोरीभर अनाज ले आया।

भला-चंगा – स्वस्थ
वाक्य : वैद्य ने कुछ ही दिनों में रोगी को भला-चंगा कर दिया।

सिर से पैर तक देखना – भलीभांति देखाना
वाक्य : इन्स्पेक्टर ने अपराधी को सिर से पैर तक देखा और पूछा “क्या नाम है तुम्हारा?”

महीन बात- सूक्ष्म बात
वाक्य : बाबू, आप हम गांववालों की महीन बातें नहीं समझ सकते।

निम्नलिखित कहावतों को अर्थ देकर वाक्य-प्रयोग कीजिए।

प्रश्न 1.
1. अंधेर नगरी चौपट राजा, टके सेर भाजी, टके सेर खाजा
2. मार के पीछे भूत भागे
3. काठ की हांडी बार-बार नहीं चढ़ती
4. होनहार बिरवान के होत चिकने पात
उत्तर :
1. अंधेर नगरी चौपट राजा, टके सेर भाजी, टके सेर खाजा-अयोग्य शासक के कारण कुप्रशासन
वाक्य : उस कार्यालय का कोई कर्मचारी काम नहीं करता, क्योंकि वहाँ का अधिकारी ही भ्रष्ट है। चारों तरफ ‘अंधेर नगरी चौपट राजा, टके सेर भाजी, टके सेर खाजा’ वाली बात है।

2. मार के पीछे भूत भागे – किसी भी तरह से समस्या का हल करना
वाक्य : जब समस्या हद से बढ़ जाती है, तब सरल उपाय के बजाय कठिन या शिक्षात्मक रवैया अपनाना। इसे कहते हैं- मार के पीछे भूत भागे।

3. काठ की हांडी बार-बार नहीं चढ़ती – छल, कपट तथा चालाकी से एक ही बार काम निकलता है
वाक्य : एक बार तो तुम मुझे धोखा देकर रुपए ले जा चुके हो, अब मैं तुम्हारी चिकनी-चुपड़ी आतों में नहीं आ सकता क्योंकि काठ की हाडौ बार-बार नहीं चढ़ती।

4. होनहार बिरवान के होत चिकने पात – योग्य व्यक्ति के लक्षण बचपन से ही प्रकट होने लगते हैं
वाक्य : गोपालदास नीरज ने पहली कविता दस वर्ष की उम्र में ही लिख दी थी। सच है – होनहार बिरवान के होत चिकने पात।

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 9 निर्भय बनो

निम्नलिखित शब्दों के उपसर्ग पहचानकर लिखिए :

प्रश्न 1.

  1. निर्भय
  2. प्रयत्ल
  3. प्रमाण
  4. व्याकुल
  5. अपशब्द
  6. प्रणाम
  7. अपवित्र
  8. अप्रिय
  9. अस्वस्थ
  10. अनुरोध
  11. अनिच्छा
  12. निराग्रह
  13. अयोग्य
  14. कुशासन
  15. प्रशासन
  16. निष्कपट
  17. सूक्ति
  18. निडर

उत्तर :

  1. निर्भय – नि: (निस्) + भय
  2. प्रयत्न – प्र+ यत्न
  3. प्रमाण – प्र + मान
  4. विकल – वि + कल
  5. व्याकुल – वि + आकुल
  6. अपशब्द – अप + शब्द
  7. प्रत्येक – प्रति + एक
  8. प्रणाम – प्र + नाम
  9. अपवित्र – अ + पवित्र
  10. अप्रिय – अ + प्रिय
  11. अस्वस्थ – अ + स्वस्थ
  12. अनुरोध – अनु + रोध
  13. अनिच्छा – अन् + इच्छा
  14. निराग्रह – निर् + आग्रह
  15. अयोग्य – अ + योग्य
  16. कुशासन – कु + शासन
  17. प्रशासन – प्र + शासन
  18. निष्कपट – निस् + कपट
  19. सूक्ति – सु + उक्ति
  20. निडर – नि: + डर

निम्नलिखित शब्दों के प्रत्यय पहचानकर लिखिए :

प्रश्न 1.

  1. निर्भयता
  2. बचपन
  3. निडर
  4. शिक्षक
  5. नामक
  6. रोगी
  7. ज़िम्मेदार
  8. अड़ेंगेबाज़
  9. अपराधी
  10. गाँववाला
  11. बोरीभर
  12. विकसित
  13. पयोदा
  14. सेवाभावी
  15. महत्त्व
  16. गाडीवान
  17. पहलवान
  18. डरनेवाला
  19. आंचलिक
  20. पीडिता
  21. तन्मयता
  22. सरकारी
  23. दिनकर
  24. कहानीकार

उत्तर :

  1. निर्भयता – निर्भय + ता
  2. बचपन – बच्चा + पन
  3. निडर – नि: + डर
  4. शिक्षक – शिक्षा + क
  5. नामक – नाम + क
  6. रोगी – रोग +ई
  7. जिम्मेदार – ज़िम्मा + दार
  8. अड्रंगेबाज़ – अड़गा + बाज़
  9. अपराधी – अपराध + ई
  10. गाँववाला – गांव + वाला
  11. बोरोभर – बोरी + भर
  12. विकसित – विकास + इत
  13. पयोदा – पयः + दा
  14. सेवाभावी – सेवाभाव + ई
  15. महत्व – महत् + त्व
  16. गाड़ीवान – गाड़ी + वान
  17. पहलवान – पहल + वान
  18. डरनेवाला – डरना + वाला
  19. आंचलिक – अंचल + इक
  20. पीडिता – पीडा + इता
  21. तन्मयता – तन्मय + ता
  22. सरकारी – सरकार +ई
  23. दिनकर – दिन + कर
  24. कहानीकार – कहानी + कार

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 9 निर्भय बनो

निर्भय बनो Summary in Gujarati

ગુજરાતી ભાવાર્થ :

પ્રિયદા (પ્રિયવ્રત રાય) : મૅટ્રિકમાં ભક્ષતો પ્રિયદા પોતાની સ્કૂલનો લોકપ્રિય વિદ્યાર્થી છે. વિદ્યાર્થીઓ અને શિકો સૌ એને ચાહે છે, એ દરેક રવિવારે સવારે ‘સંન્યાસી આશ્રમ’ માટે એક- એક મુઠ્ઠી અનાજ માગવા નીકળે છે, બીમાર વિદ્યાર્થી કે શિક્ષકની તે સેવા કરે છે. એ માટે તેણે એક ક્લબ બનાવી છે. તે જ એનો પ્રમુખ છે. સૌ તેનું માન જાળવે છે,

શનિવારનો કાર્યક્રમ દરેક શનિવારે પ્રિયદાના દળના સભ્યો પરમાન નદીની પેલે પાર ‘બાલ્ચર’ નામના સ્થળે ભેગા થાય છે, તેઓ હસે-૨મે છે અને રવિવારનો કાર્યક્રમ નક્કી કરે છે, કોણે કર્યું કામ કરવાનું છે, એની પણ બધાને જાણ કરવામાં આવે છે.

મોના (મનમોહન) નવો સદસ્ય બન્યો કાબુ મોના નામના છોકરાને ક્લબનો સદસ્ય બનાવવા લઈ આવે છે, પ્રિયદા તેને કેટલાક સવાલો પૂછે છે, જેમ કે, કયા આધુનિક નેતાને લોકો ભગવાન માને છે? (ઉત્તર – ગાંધીજી), ભણીગણીને તું શું બનીશ? (ઉત્તર – વકીલ). બીમાર લોકોની સેવા કરતાં આવડે છે? (ઉત્તર – શીખી લઈશ. જો રોગી કલેિરાથી પીડિત હશે તો?- આ પ્રશ્નનો ઉત્તર તે આપતો નથી.

મોના ચૂપ રહે છે, કારણ કે, તે કૉલેરાથી ડરતો હતો. મોનાને ગાતાં આવડતું હતું, પરંતુ તરવાનું નહોતું આવડતું. સૂર્યનારાયણ ક્લબનો એક સભ્ય સૂર્યનારાયણ છે. તે ભણવામાં નબળો છે, પરંતુ તેનું શરીર મજબૂત છે. સાથીઓ તેને ‘સૂરજ પહેલવાન’ કહે છે. મોનાને તરવાનું શીખવવાની જવાબદારી તેને સોંપવામાં આવી, તો તેણે કહ્યું, “ઉપાડીને પાણીમાં ફેંકી દઈશ તો જાતે જ કરવા માંડશે.”

મનમોહને ગીત સંભળાવ્યુંઃ બધા જ સભ્યોના આગ્રહથી મોના ગીત સંભળાવે છે. “રામ રહીમને જુદા ન કરો ભાઈ દિલ સાચું રાખશોજી” – પ્રિયા મોનાના વખાણ કરે છે.

સૂર્યાસ્તના સમયે સૂર્યાસ્ત થવાનો હતો. ક્લબના બધા સભ્યો લાઇનમાં એક થઈને નદીના પુલ પાસે પહોંચ્યા. ત્યાં એક ગાડીવાળો તન્મય થઈને વિદ્યાપતિનું ગીત ગાઈ રહ્યો હતો. સૂરજે પણ તેના સૂરમાં સૂર પૂર્યો.

હૉલ્ટઃ એ સમયે સબ-ડેપ્યુટી સાહેબે ફાયર કરીને ચકલીનાં જોડાંમાંથી એકને નીચે પાડી દીધી, તેનો નોકર દોડતો આવ્યો અને મરેલી ચકલીને ઉપાડીને લઈ ગયો. ક્લબના એક સભ્ય ઇબ્રાહીમે નોકર વિશે કહ્યું, “સાલો ભારે ખરૂસ છે.” પ્રિયદાના મોંમાંથી અચાનક શબ્દ નીકળ્યો, “હૉલ્ટ’, દળના નિયમ અનુસાર કોઈ સદસ્ય કોઈ પ્રકારનો અપશબ્દ કે ગાળ બોલી શકતો નહોતો. ઈબ્રાહીમે માફી માગી, પરંતુ ફરીથી એના મોંમાંથી ‘સાલા’ શબ્દ નીકળી ગયો, પ્રિયદાએ એને ચેતવણી આપી.

ગાળ અને ઑફિસર : ઇબ્રાહીમનો તર્ક હતો કે જ્યારે ઑફિસર ગાળો આપે છે, તો તેને ગાળ આપવામાં શો વાંધો છે? તે વખતે ક્લબના નિયમની યાદ આપીને ઈબ્રાહીમને શાંત પાડી દેવામાં આવ્યો. સહુઆઈન ધર્મશાળા પાસે આવીને બધા જુદા પડ્યા.

મનમોહનનો ડર દૂર ર્યો : મનમોહન સૂના રસ્તા પરથી પસાર થતાં ડરતો હતો, એટલે પ્રિયદા એની સાથે ચાલ્યો. રસ્તામાં એક સૂનું ખંડેર અને એક ઉજ્જડ મકાન આવ્યાં, જ્યાં પહેલાં પોસ્ટમોર્ટમ હાઉસ હતું. લોકો માનતા હતા કે ત્યાં ભૂતપિશાચ રહે છે અને ભૂતડીઓ નાચે છે. એ જાણીને મૌના ડરવા લાગ્યો.

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 9 निर्भय बनो

निर्भय बनो Summary in English

Priyoda (Priyvrat Ray) : Prlyoda, studying in matric is a popular student of his school. Students and teachers love him. Every Sunday. in the morning he goes out to beg a handful of grain for “Sanyast Ashram’. He serves sick pupils and teachers. He has set up a club. He himself is the president of the club. All respect him.

The programme of Saturday: Every Saturday, the members of the club get together at ‘Baluchar across the river. They laugh-play and prepare the programme of Sunday. Everyone is informed what he has to do.

Mona (Manmohan) became the new member: Kalu brings the boy named Mona to make him the member of the club. Priyoda asks him some questions. e.g.. “To which modern leader do people believe God?’ (Answer – Gandhiji). “What will you become after completing your study? (Answer-lawyer).

‘Do you know how to serve sick people?’ (Answer-I will learn it). “What will you do if the patient is suffering from cholera ? – He does not answer the question. Mona keeps mum because he was afraid of cholera. Mona knew singing but did not know swimming

Suryanarayan: Suryanarayan is a member of the club. He is poor in study but his body is strong. Friends tell him ‘Suraj-the wrestler’. When he was given responsibility to teach swimming to Mona he said, “I will throw him into the water and he will begin to swim himself.”

Manmohan sang out a song : Owing to the request of all the members of the club Mona sang out a song “Ram Rahimane juda na karo bhal, dil sachu rakhashoji” – Priyoda praises Mona.

At the time of sunset: It was time of sunset. All the members of the club reached near the bridge of a river together in a line. There a driver was singing a song of learning. He was engrossed in singing The sun also supported in his tune.

Halt: At that time the sub-deputy shot a sparrow down. His servant came running there and carried the dead sparrow. One of the club members said about the servant Ibrahim, “Salo bhare khadussa chhe. Suddenly the word came out from Priyoda’s mouth, ‘half’. As a rule of the club no member can utter any kind of bad word or abuse. Ibrahim regretted but again the word ‘sala’ came out from his mouth. Prlyoda gave him warning for not to utter bad word.

Abuse and the officer : Ibrahim was that if an officer could abuse, why he could not. At that time he was calmed down by reminding him the rules of the club. All dispersed near the Sahuain Inn.

Removed Manmohan’s fear : Manmohan was fearing while he was passing through a lonely road. So Priyoda went with him. On the way there were lonely ruins of a building, where there was a postmortem house before. People believed that a ghost lived there and she-ghosts danced there, so Mona was afraid of the ghosts.

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 9 निर्भय बनो

निर्भय बनो Summary in Hindi

विषय-प्रवेश :

निर्भयता बहुत बड़ा गुण है। बचपन से ही इस गुण का विकास होना चाहिए। लेखक के उपन्यास ‘कितने चौराहे’ से लिए गए इस अंश के सभी पात्र नवयुवक हैं। उनमें निर्भयता दिखाई देती है। जो डरते हैं, उन्हें निडर बनाने का प्रयत्न किया जाता है।

पाठ का सार :

प्रियोदा (प्रियव्रत राय) : मैट्रिक में पढ़नेवाला प्रियोदा अपने स्कूल का लोकप्रिय विद्यार्थी है। विद्यार्थी और शिक्षक सभी उसे प्यार करते हैं। वह हर रविवार को सुबह ‘संन्यासी आश्रम’ के लिए घर-घर जाकर एक-एक मूठी अनाज मांगता है। बीमार छात्र या शिक्षक की भी वह पूरी सेवा-शुश्रूषा करता है। इसके लिए उसने एक क्लब बनाया है। वही उसका प्रमुख है। सब उसकी इज्जत करते हैं।

शनिवार का कार्यक्रम : हर शनिवार को प्रियोदा के दल के सदस्य परमान नदी के उस पार ‘बालूचर’ नामक स्थान पर एकत्र होते हैं। वे खेलते-कूदते हैं और रविवार का कार्यक्रम तय करते हैं। किसे कौन-सा काम दिया जाएगा, यह भी बताया जाता है।

मोना (मनमोहन) का नया सदस्य बनना : कालू मोना (मनमोहन) नामक लड़के को क्लब का सदस्य बनाने के लिए लाता है। प्रियोदा उससे कई सवाल पूछते हैं। जैसे, किस आधुनिक नेता को लोग भगवान का अवतार मानते हैं? (उत्तर : गांधीजी)। पढ़-लिखकर तुम क्या बनोगे? (उत्तर : वकील)। बीमार लोगों की सेवा करना जानते हो? (उत्तर : सीख लेंगे)। यदि रोगी हैज़ा पीड़ित हुआ तो? इस प्रश्न के उत्तर में मोना चुप रहा, क्योंकि वह हैजे से डरता था। मोना गाना जानता था, परंतु तैरना उसे नहीं आता था।

सूर्यनारायण : क्लब का एक सदस्य सूर्यनारायण है। वह पढ़ाई में कमजोर है, परंतु शरीर से मजबूत है। साथी उसे सूरज पहलवान’ कहते हैं। मोना (मनमोहन) को तैरना सिखाने की जिम्मेदारी उसे सौंप दी गई तो उसने कहा, “उठाकर पानी में फेंक दूंगा तो खुद तैरने लगेगा।”

मनमोहन ने गीत सुनाया : सभी सदस्यों के आग्रह पर मोना गीत सुनाता है – “राम रहीम न जुदा करो भाई, दिल को सच्चा रखना जी।” प्रियोदा मोना की तारीफ करते हैं।

सूर्यास्त होने की वेला : सूर्यास्त होनेवाला था। क्लब के सभी सदस्य कतार बनाकर नदी के पुल के पास पहुंचे। वहाँ एक गाडीवान तन्मय होकर विद्यापति का गीत गा रहा था। सूरज ने भी उसके सूर में सूर मिलाया।

‘हॉल्ट’ : उसी समय सब-डिप्टी साहब ने फायर कर चिड़िया के जोड़े से एक को नीचे गिरा दिया। उसका अर्दली दौड़ता हुआ आया और मरी हुई चिड़िया को उठा ले गया। क्लब के एक सदस्य इब्राहीम ने अर्दली के बारे में कहा, “साला, भारी खचड़ा है।” प्रियोदा के मुंह से अचानक निकला, “हॉल्ट!” दल के नियम के अनुसार कोई सदस्य किसी प्रकार का अपशब्द या गाली मुंह से नहीं निकाल सकता था। इब्राहीम ने माफी मांगी, परंतु फिर उसके मुंह से ‘साला’ शब्द निकल गया। प्रियोदा ने उसे चेतावनी दी।

गाली और अफसर : इब्राहीम का तर्क था कि जब अफसर गाली देते हैं तो उन्हें गाली देने में क्या हर्ज है? तब क्लब के नियम की याद दिलाकर इब्राहीम को शांत कर दिया गया। सहुआइन धर्मशाला के पास आकर सब एक-दूसरे से विदा हुए।

मनमोहन का डर दूर करना : मनमोहन सूने रास्ते से जाने में डरता था। इसलिए प्रियोदा उसके साथ चले। रास्ते में एक सूना खंडहर और उजड़ा हुआ मकान मिला, जो पहले पोस्टमार्टम हाउस था। लोग मानते थे कि वहां भूत-पिशाच रहते हैं और प्रेतनियाँ नाचती हैं। यह जानकर मोना डरने लगा।

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 9 निर्भय बनो

निर्भय बनो शब्दार्थ :

  1. टोली – दल, मंडली।
  2. परमान – एक नदी का नाम।
  3. बालूचर – नदी का रेतीला तट।
  4. मुठिया – मुट्ठीभर अनाज।
  5. हैजा – कॉलेरा।
  6. लजाना – शर्माना।
  7. आग्रह – अनुरोध, फरमाइश।
  8. पखेरू – पक्षी।
  9. तन्मय – मग्न, तल्लीन।
  10. विद्यापति – मैथिली भाषा के प्रसिद्ध कवि।
  11. लाचारी – एक लोकगौत।
  12. विकल – व्याकुल।
  13. डैना – पंख।
  14. अर्दली – अफसर का नौकर।
  15. खचड़ा – अड्गेबाज, मूर्ख।
  16. अपशब्द – बुरा शब्द, गाली।
  17. हर्ज – आपत्ति, नुकसान।
  18. महीन – सूक्ष्म, बारीक।
  19. बूझना – समझना।
  20. उजड़ा – खंडहर।
  21. संताल (संथाल) – एक आदिवासी जाति।
  22. ‘दस’ का – दश काम।
  23. जुदा – अलग।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *