GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 11 एक यात्रा यह भी

   

Gujarat Board GSEB Hindi Textbook Std 9 Solutions Chapter 11 एक यात्रा यह भी Textbook Exercise Important Questions and Answers, Notes Pdf.

GSEB Std 9 Hindi Textbook Solutions Chapter 11 एक यात्रा यह भी

Std 9 GSEB Hindi Solutions एक यात्रा यह भी Textbook Questions and Answers

स्वाध्याय

1. निम्नलिखित प्रश्नों के एक-एक वाक्य में उत्तर दीजिए :

प्रश्न 1.
लेखक को ग्वालियर क्यों जाना पड़ा?
उत्तर :
लेखक को एक डॉक्टर से मिलने के लिए ग्वालियर जाना पड़ा।

प्रश्न 2.
लेखक के न कहने पर भी ऑटोवाला उनका इन्तजार क्यों करने लगा?
उत्तर :
लेखक के न कहने पर भी ऑटोवाला उनका इंतजार करता रहा, क्योंकि वह उन्हें होटल तक भी पहुंचाना चाहता था।

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 11 एक यात्रा यह भी

प्रश्न 3.
लडकीने मोहन से घिघियाते हुए क्या कहा?
उत्तर :
लड़की ने घिधिवाते हुए मोहन से कहा, “मुझे बचा लो।”

प्रश्न 4.
मोहन लडकी से विवाह करने क्यों तैयार हो गया?
उत्तर :
लड़की सुंदर और परिचित थी। शादी न करे तो उसकी जिंदगी खतरे में पड़ने की संभावना थी। इसलिए मोहन उससे विवाह करने के लिए तैयार हो गया।

प्रश्न 5.
थानेदार की क्या विशेषता थी?
उत्तर :
थानेदार की यह विशेषता थी कि वह कवि भी था और उसकी कविताएँ मानवीय संवेदना से भरी होती थीं।

प्रश्न 6.
मोहनने ज्यादा पैसे लेने से क्यों इन्कार किया?
उत्तर :
मोहन ने ज्यादा पैसे लेने से इन्कार किया, क्योंकि लेखकदंपती से मिला प्रेम उसके लिए पैसों से बढ़कर था।

2. निम्नलिखित प्रश्नों के दो-तीन वाक्यों में उत्तर दीजिए :

प्रश्न 1.
लेखकने ऑटोवाले की बात को स्वीकृति क्यों दी?
उत्तर :
लेखक ने ऑटोवाले की जिद और आवाज में एक प्रकार का आकर्षण महसूस किया। उससे प्रभावित होकर उन्होंने उसके रिक्षा में बैठने की स्वीकृति दी।

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 11 एक यात्रा यह भी

प्रश्न 2.
मोहन की पारिवारिक स्थिति क्या थी?
उत्तर :
मोहन का घर आगरा में था। माँ-बाप के गुजर जाने के बाद बड़े भाई ने उसकी परवरिश की थी। बड़ा भाई वकील था और शादीशुदा था। मोहन बी.ए. पास करने के बाद नौकरी खोज रहा था।

प्रश्न 3.
लड़की किस बात के लिए तैयार नहीं थी? क्यों?
उत्तर :
लड़की के माँ-बाप उसे एक अधेड़ के हाथ बेच रहे थे। लड़की उस खूसट के साथ जाने को तैयार नहीं थी, क्योंकि इससे उसकी जिंदगी बरबाद होने की संभावना थी।

प्रश्न 4.
लेखक मोहन को बहुत बड़ा क्यों बताते हैं.?
उत्तर :
बड़े-बड़े लोग नारी-हित की बातें करते हैं, पर उन्हें व्यवहार में नहीं लाते। इसके बदले मोहन ने एक लड़की को पत्नी बनाकर उसे दर्दशाग्रस्त होने से बचा लिया। इसी मानवतापूर्ण साहस के कारण लेखक उसे ‘बहुत बड़ा’ बताते हैं।

3. विस्तार से उत्तर दीजिए :

प्रश्न 1.
लेखक यात्रा से क्यों डरते थे?
उत्तर :
लेखक यात्राप्रिय नहीं थे। यात्रा पर निकलते समय वे सोचते कि रास्ते में न जाने कैसे-कैसे लोग मिलेंगे। नए शहर के लोगों का कैसा व्यवहार होगा। सबसे अधिक परेशानी उने ऑटोवालों के बारे में सोचकर होती थी। नए शहर के ऑटोवाले मनमाना किराया मांगेंगे। इन्हीं कारणों से लेखक यात्रा से डरते थे।

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 11 एक यात्रा यह भी

प्रश्न 2.
मोहन का चरित्र चित्रण कीजिए।
उत्तर :
मोहन बी.ए. पास एक सुशिक्षित युवक है। उसकी आकर्षक और अपनेपन से भरी वाणी परायों को भी अपना बना लेती है। वह धन से अधिक आत्मीय संबंधों को महत्त्व देता है। संकट में पड़ी एक लड़की को अपनाकर वह अपने साहस और मानवता का परिचय देता है। उसे अपनाने में वह अपने पारिवारिक रिश्ते की बलि देने में भी संकोच नहीं करता। अपने इन्हीं गुणों के कारण मोहन लेखक की नजरों में बहुत ऊँचा उठ जाता है।

प्रश्न 3.
लेखक के साथ मोहन ने अपनापन कैसा जताया?
उत्तर :
मोहन ने शुरू से ही अपने प्रेमपूर्ण व्यवहार से लेखक का दिल जीत लिया था। वह लेखक को ‘बाबूजी’ और उनकी पत्नी को ‘अम्मा’ कहता था। स्टेशन पर विदा होते समय लेखक ने उसे पांच सौ रुपए देने चाहे तो मोहन ने लेने से इन्कार कर दिया। लेखक और उनकी पत्नी को पाकर उसे लगा जैसे उसे माँ-बाप मिल गए हैं। उस सुख के सामने उसे पारिश्रमिक के पैसे लेना तुच्छ लगा। पारिश्रमिक के पैसे लेने में उसे एक तरह का परायापन महसूस हुआ। लेखक को अपना फोन नंबर देकर उसने उनसे संपर्क बनाए रखने का आग्रह किया। इस प्रकार लेखक के साथ मोहन ने अपनापन जताया।

4. निम्नलिखित विधान किसने किससे और क्यों कहा?

प्रश्न 1.
“इससे विवाह करना प्रीतिकर भी होगा और मानवीय भी।”
उत्तर :
यह विधान मोहन ने थानेदार से कहा, क्योंकि लड़की सुंदर और परिचित थी।

प्रश्न 2.
भाई हर क्षेत्र में कोई न कोई मसीहा दिखाई पड़ ही जाता है।
उत्तर :
यह विधान लेखक ने मोहन से कहा है, क्योंकि थानेदार ने लड़की की शादी कराने में मदद की थी।

प्रश्न 3.
मुझे इतना पराया न कीजिए, बाबूजी?
उत्तर :
यह विधान मोहन ने बाबूजी से कहा है, क्योंकि वे मोहन को आग्रह कर पारिश्रमिक दे रहे थे।

5. सही शब्द चुनकर योग्य उत्तर दीजिए।

प्रश्न 1.
ऑटोवाले ने लेखक को नई जगह पर पहुँचा दिया, क्योंकि…
(अ) लेखक को दूसरी जगह घूमने जाना था।
(ब) वहाँ डॉक्टर हाजिर नहीं था।
(क) डॉक्टर ने क्लीनिक की जगह बदल दी थी।
उत्तर :
ऑटोवाले ने लेखक को नई जगह पर पहुंचा दिया, क्योंकि डॉक्टर ने क्लिनिक की जगह बदल दी थी।

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 11 एक यात्रा यह भी

प्रश्न 2.
बात करते हुए मोहन रुक गया और चुप्पी सी छा गई, क्योंकि…
(अ) कोई अवांछित घटना घटी थी।
(ब) नौकरी की तलाश में उसे आगरा से भटकते हुए ग्वालियर आना पड़ा।
(क) इसे एक लड़की मिल गई।
उत्तर :
बात करते हुए मोहन रुक गया और चुप्पी-सी छा गई, क्योंकि कोई अवांछित घटना घटी थी।

प्रश्न 3.
लेखक को मोहन की बात कहानी-कथा सुन रहे. ही ऐसी लगी, क्योंकि….
(अ) लेखक सोचने लगे कि कोई थानेदार ऐसा सहद व्यवहार कर सकता है?
(ब) लेखक को मोहन की बात पर विश्वास नहीं आ रहा था।
(क) मोहन कोई कहानी सुना रहा था।
उत्तर :
लेखक को मोहन की बात कहानी-कथा सुन रहे हो ऐसी लगी, क्योंकि लेखक सोचने लगे कि कोई थानेदार ऐसा सहद व्यवहार कर सकता है?

प्रश्न 4.
मोहनने ज्यादा पैसे लेने से इन्कार कर दिया, क्योंकि…
(अ) मोहन चाहता था कि उसे इतना पराया न समजा जाय।
(ब) वह परिश्रम से ज्यादा पैसे लेने के पक्ष में नहीं था।
(क) वह चाहता था कि लेखक दूबारा ग्वालियर आए तो उसके ही आंदों का उपयोग करें।
उत्तर :
मोहन ने ज्यादा पैसे लेने से इन्कार कर दिया, क्योंकि मोहन चाहता था कि उसे इतना पराया न समझा जाय।

6. निम्नलिखित मुहावरों का वाक्य में प्रयोग कीजिए :

प्रश्न 1.
1. पाला पड़ना
2. असमंजस में पड़ना
3. दामन थाम लेना
उत्तर :
पाला पड़ना-संबंध जुड़ना
वाक्य : मुझे पता नहीं था कि तुम जैसे लोगों से मेरा पाला पड़ेगा।

असमंजस में पड़ना – उलझन में पड़ जाना, निर्णय न कर पाना
वाक्य : आप कहां इलाज कराएंगे, ऐसा पूछने पर पिताजी असमंजस में पड़ गए।

दामन थाम लेना-आश्रय लेना
वाक्य : बड़े भाई का दामन थामकर वह शहर में रहने लगा।

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 11 एक यात्रा यह भी

7. निम्नलिखित शब्दों के विरोधी शब्द दीजिए :

प्रश्न 1.

  1. वांछित
  2. परिचित
  3. समस्या
  4. मसीहा
  5. प्रीति
  6. संतोष
  7. शोषण

उत्तर :

  1. अवांछित
  2. अपरिचित
  3. समाधान
  4. शैतान
  5. नफ़रत
  6. असंतोष
  7. पोषण

GSEB Solutions Class 9 Hindi एक यात्रा यह भी Important Questions and Answers

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दो-तीन वाक्यों में लिखिए :

प्रश्न 1.
घंटे भर तक अपना इंतजार करनेवाले ऑटोवाले के बारे में लेखक ने क्या महसूस किया?
उत्तर :
घंटे भर तक अपना इंतजार करनेवाले ऑटोवाले के बारे में लेखक ने महसूस किया कि, यह ऑटोवाला अन्य ऑटोवाले की अपेक्षा कुछ और है। लेखक को लगा जैसे वह उसके अंदर घर कर गया है।

प्रश्न 2.
थानेदार मसीहा कैसे बन गया?
उत्तर :
थानेदार ने संकट में पड़ी हुई लड़की के मामले में पूरी रुचि ली। उसने युक्तिपूर्वक मोहन के साथ उसका विवाह करवा दिया। इस प्रकार वह मसीहा बन गया।

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर एक-एक वाक्य में लिखिए:

प्रश्न 1.
लेखक को क्यों लगा कि मोहन के साथ कोई अवांछित घटना घटी है?
उत्तर :
बात करते-करते मोहन के एकाएक चुप हो जाने से लेखक को लगा कि उसके साथ कोई अवांछित घटना घटी है।

प्रश्न 2.
मोहन ने लेखक से क्या आग्रह किया?
उत्तर :
मोहन ने लेखक से आग्रह किया कि वे जब भी ग्वालियर आएं, तब उसे फोन करके अवश्य बुलाएं।

प्रश्न 3.
लेखक ने मसीहा किसे बताया?
उत्तर :
लेखक ने थानेदार को मसीहा बताया।

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 11 एक यात्रा यह भी

प्रश्न 4.
लेखक के मन में कौन बड़ा हो गया?
उत्तर :
लेखक के मन में मोहन बड़ा हो गया।

प्रश्न 5.
मोहन किसकी तलाश में ग्वालियर आया था?
उत्तर :
मोहन नौकरी की तलाश में ग्वालियर आया था।

सही विकल्प चुनकर रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए :

प्रश्न 1.

  1. लेखक को ग्वालियर में ……… से मिलना था। (डॉक्टर, इंजीनियर)
  2. लेखक ने डॉक्टर के ………. की कॉल-बेल बजाई। (दवाखाने, घर)
  3. लेखक एक ……. में ठहरे थे। (धर्मशाला, होटल)
  4. मोहन ………. की तलाश में ग्वालियर आया था। (नौकरी, नौकर)
  5. थानेदार ने लड़की की शादी …………. से करवा दी। (मोहन, सत्यकेतु)

उत्तर :

  1. डॉक्टर
  2. घर
  3. होटल
  4. नौकरी
  5. मोहन

निम्नलिखित विधान ‘सही’ हैं या ‘गलत’ यह बताइए :

प्रश्न 1.

  1. लेखक एक हॉटेल में ठहरे थे।
  2. मोहन नौकरी की तलाश में ग्वालियर आया था।
  3. लड़की के पिता लड़की की शादी एक अमीर के साथ कर
  4. अंत में मोहन ने पांच सौ रुपए ले लिए।
  5. इस यात्रा में लेखक ने अपनेपन का अनुभव किया।

उत्तर :

  1. सही
  2. सही
  3. गलत
  4. सही
  5. सही

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर एक-एक शब्द में लिखिए :

प्रश्न 1.

  1. मोहन कहाँ का रहनेवाला था?
  2. मोहन लड़की को कहाँ ले गया?
  3. थानेदार ने लड़की की शादी किससे कस्वा दौ?
  4. लेखक ने मोहन को कितने रुपये देना चाहा?

उत्तर :

  1. आगरा का
  2. पुलिस स्टेशन में
  3. मोहन से
  4. पाँच-सौ रुपए

निम्नलिखित वाक्य कौन-किससे कहता है? यह लिखिए :

प्रश्न 1.

  1. “तुम इससे शादी क्यों नहीं कर लेते?”
  2. “वास्तव में तुम बहुत बड़े हो मोहन।”

उत्तर :

  1. थानेदार ने मोहन से कहा।
  2. लेखक ने मोहन से कहा।

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 11 एक यात्रा यह भी

निम्नलिखित प्रश्नों के साथ दिए गए विकल्पों से सही विकल्प बुनकर उत्तर लिखिए :

प्रश्न 1.
लेखक को ग्वालियर में किससे मिलना था?
A. एक मित्र से
B. एक डॉक्टर से
C. एक इंजीनियर से
D. एक नेता से
उत्तर :
B. एक डॉक्टर से

प्रश्न 2.
लेखक ने डॉक्टर के
A. घर का पता पूछा
B. दवाखाने में प्रवेश किया
C. घर की कॉल-बेल बजाई
D. बारे में पूछताछ की
उत्तर :
C. घर की कॉल-बेल बजाई

प्रश्न 3.
ऑटोवाला शादी के प्रस्ताव से चकरा गया, क्योंकि …
A. वह आकस्मिक था।
B. वह शादीशुदा था।
C. वह वयोवृद्ध था।
D. लड़की गैरजाति की थी।
उत्तर :
A. वह आकस्मिक था।

प्रश्न 4.
थानेदार और क्या था?
A. लेखक
B. पत्रकार
C. कवि
D. पहलवान
उत्तर :
C. कवि

व्याकरणलक्षी

निम्नलिखित शब्दों के पर्यायवाची शब्द लिखिए :

प्रश्न 1.

  1. तसल्ली
  2. संकोच
  3. अवांछित
  4. असमंजस
  5. हकीकत
  6. खफा
  7. संवेदना
  8. अधेड़
  9. खूसट
  10. हवालात
  11. उबारना
  12. उद्विग्न

उत्तर :

  1. आश्वासन
  2. झिझक
  3. अनचाहा
  4. दुविधा
  5. वास्तविकता
  6. नाराज़
  7. सहानुभूति
  8. प्रौढ़
  9. अप्रिय
  10. जेल
  11. बचाना
  12. व्याकुल

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 11 एक यात्रा यह भी

निम्नलिखित शब्दों के विरोधी शब्द लिखिए :

प्रश्न 1.

  1. अपनापन
  2. प्रीतिकर
  3. प्रिय

उत्तर :

  1. परायापन
  2. अप्रीतिकर
  3. अप्रिय

निम्नलिखित प्रत्येक वाक्य में से भाववाचक संज्ञा पहचानकर लिखिए :

प्रश्न 1.

  1. ऑटोवाला बिना हमारे कहे हमारा इंतज़ार कर रहा था।
  2. वह बहुत प्रेम से एक के बाद एक स्थान दिखाता था।
  3. मां-बाप तो बचपन में ही गुजर गए।
  4. एक चुप्पी-सी छा गई, जब अवांछित घटना घटी।
  5. कुछ पल बाद लगा कि इसमें बुराई क्या है?

उत्तर :

  1. इंतजार
  2. प्रेम
  3. बचपन
  4. चुप्पी
  5. बुराई

निम्नलिखित प्रत्येक वाक्य में से कर्तृवाचक संज्ञा पहचानकर लिखिए :

प्रश्न 1.

  1. सरकारी सेवक को सेवा करने की इच्छा नहीं होती।
  2. अच्छे खाद्य पदार्थों में पोषक तत्त्व अधिक होते हैं।
  3. लेखक ने इस कहानी में मानव मूल्यों को प्रस्तुत किया है।
  4. अच्छा वक्तव्य प्रीतिकर एवं श्राव्य होता है।
  5. मेहनतकश लोग मज़बूत और स्वस्थ होते हैं।

उत्तर :

  1. सेवक
  2. पोषक
  3. लेखक
  4. प्रीतिकर
  5. मेहनतकश

निम्नलिखित शब्दसमूह के लिए एक शब्द लिखिए :

प्रश्न 1.

  1. यात्रा करने से डरनेवाला
  2. अधिक उम्र का व्यक्ति
  3. जिससे प्रेम न हो
  4. मेहनत की कमाई
  5. करुण स्वर में प्रार्थना करना

उत्तर :

  1. यात्राभोरु
  2. अधेड़
  3. अप्रीतिकर
  4. मेहनताना
  5. पिधियाना

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 11 एक यात्रा यह भी

निम्नलिखित मुहावरों के अर्थ देकर वाक्य में प्रयोग कीजिए :

चुप्पी-सी छा जाना – खामोशी छा जाना
वाक्य : कुछ देर आवाजें हुई, फिर अचानक चुप्पी-सी छा गई।

निबाह होना – गुजारा होना, घर खर्च निकालना
वाक्य : इतनी कम आमदनी में उनका निबाह होना मुश्किल था।

उद्विग्न करना – पीड़ा देना, चितित करना
वाक्य : पुत्र की बार-बार की शिकायतों ने माँ को उद्विग्न कर दिया।

निम्नलिखित शब्दों के उपसर्ग पहचानकर लिखिए :

प्रश्न 1.

  1. संबोधन
  2. नाराज़
  3. निरंकुश
  4. दुविधा
  5. संवेदना
  6. उद्विग्न
  7. व्याकुल
  8. दुर्दशा
  9. अप्रीतिकर
  10. परिश्रम
  11. अपेक्षा
  12. सुशिक्षित
  13. व्यवहार
  14. अवांच्छित
  15. सहानुभूति
  16. अप्रिय
  17. संतोष
  18. गैरजाति
  19. असावधानी
  20. आयोजन

उत्तर :

  1. संबोधन – सम् + बोधन
  2. नाराज़ – ना + राज़ (जी)
  3. निरंकुश – निः + अंकुश
  4. दुविधा – दु + विधा
  5. संवेदना – सम् + वेदना
  6. उद्विग्न – उत् + विग्न
  7. व्याकुल – वि + आकुल
  8. दुर्दशा – दुः + दशा
  9. अप्रीतिकर – अ + प्रीतिकर
  10. परिश्रम – परि + श्रम
  11. अपेक्षा – अप + इक्षा
  12. सुशिक्षित – सु + शिक्षित
  13. व्यवहार – वि + अवहार
  14. अवांच्छित – अ + वांच्छित
  15. सहानुभूति – सह + अनु + भूति
  16. अप्रिय – अ + प्रिय
  17. संतोष – सम् + तोष
  18. गैरजाति – गैर + जाति
  19. असावधानी – अ + सावधानी
  20. आयोजन – आ + योजन

निम्नलिखित शब्दों के प्रत्यय पहचानकर लिखिए :

प्रश्न 1.

  1. इन्सानियत
  2. संबोधित
  3. सहायता
  4. थानेदार
  5. अपनापन
  6. मूलतः
  7. प्रीतिकर
  8. परिश्रमिक
  9. मेहनती
  10. परायापन
  11. परेशानी
  12. वांछित
  13. वास्तविकता
  14. कमाई
  15. मेहनतकश
  16. पोषक
  17. बचपन
  18. सावधानी
  19. ऐतिहासिक

उत्तर :

  1. इन्सानियत – इन्सान + इयत
  2. संबोधित – संबोधन + इत
  3. सहायता – सहाय + ता
  4. थानेदार – थाना + दार
  5. अपनापन – अपना + पन
  6. मूलतः – मूल + तः
  7. प्रीतिकर – प्रीति + कर
  8. परिश्रमिक – परिश्रम + इक
  9. मेहनती – मेहनत + ई
  10. परायापन – पराया + पन
  11. परेशानी – परेशान + ई
  12. वांछित – वांछना + इत
  13. वास्तविकता – वास्तव + इक + ता
  14. कमाई – कमाना + ई
  15. मेहनतकश – मेहनत + कश
  16. पोषक – पोष(ण) + क
  17. बचपन – बच्चा + पन
  18. सावधानी – सावधान + ई
  19. ऐतिहासिक – इतिहास + इक

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 11 एक यात्रा यह भी

एक यात्रा यह भी Summary in Gujarati

ગુજરાતી ભાવાર્થ :

રિક્ષાવાળા સાથે લેખકની મુલાકાત લેખકે પોતાની પત્ની સાથે એક ડૉક્ટરને મળવા ગ્વાલિયર આવ્યા હતા. સ્ટેશન પર ઊતરતાં જ કેટલાક રિક્ષાવાળાઓ તેમની પાછળ પડી ગયા, એમાંથી એક રિક્ષાવાળાના અવાજે લેખકને આકર્ષિત કર્યા. તેમની રિક્ષામાં બેસીને તેઓ ડૉક્ટરના ક્લિનિક પર પહોંચ્યા તો ખબર પડી કે ડૉક્ટરે ક્લિનિકની જગ્યા બદલી નાખી હતી.

એ જ રિક્ષામાં બેસીને લેખક ડૉક્ટરની નવી જગ્યાએ પહોંચ્યા. રિક્ષાવાળો બહાર એમની રાહ જોતો રહ્યો. એક કલાક પછી બહાર આવતાં રિક્ષાવાળાને જોઈને લેખકને આશ્ચર્ય થયું. તેમને લાગ્યું કે આ રિક્ષાવાળો બીજા રિક્ષાવાળા કરતાં જુદો જ છે. રિક્ષાવાળાએ પોતાનું નામ મોહન’ કહ્યું અને લેખકને પોતાનો ફોન નંબર પણ આપ્યો.

હૉટલમાં વિશેષ પરિચય : લેખક એક હોટલમાં ઊતર્યા હતા. બીજે દિવસે તેમને શહેરમાં ફરવું હતું. મોહન હોટલ પર આવ્યો ત્યારે લેખ કે તેને ચા પીવા માટે પોતાની રૂમમાં બોલાવ્યો.

મોહનની આપવીત: વાતચીતમાં મહાન લેખકને ‘બાબુજી અને તેમનાં પત્નીને ‘મા’ કહીને બોલાવતો હતો. એણે લેખકને કહ્યું કે તે આગરાનો રહેવાસી છેતેનાં માતા-પિતા તો તેને બાળપણમાં જ મૂકીને ગુજરી ગયાં હતાં. મોય ભાઈ એ તેને ઉછેર્યો હતો. તે બી.એ. પાસ છે અને નોકરીની શોધમાં વાલિયર આવ્યો હતો.

સંકટમાં ફસાયેલી છોકરી મોહને કહ્યું કે તે નોકરીની શોધમાં આમ-તેમ ભટકી રહ્યો હતો ત્યારે એક ઘટના બની. એક પરિચિત છોકરીએ તેને બોલાવ્યો અને પોતાને બચાવી લેવા તેની મદદ માગી. છોકરીના પિતા તેનાં લગ્ન એક ઘરડા માણસ સાથે કરી રહ્યા હતા. છોકરીને તેની સાથે લગ્ન કરવા કરતાં ક્વામાં પડીને મરી જવું પસંદ હતું.

પોલીસ સ્ટેશનમાં: મોહન છોકરીને લઈને પોલીસ સ્ટેશને ગયો. તેણો થાણેદારને બધી વાત કરી. ઘાāદારે મોહનને કહ્યું, “તું આની સાથે લગ્ન કેમ કરતો નથી?” છોકરી મોહન સાથે લગ્ન કરવા તૈયાર હતી.

મોહનની સમસ્યા મોહનની ભાભી એનાં લગ્ન પોતાની બહેન સાથે કરાવવા ઇચ્છતી હતી. ભાઈનો પણ નાખુશ થવાનો ડર હતો.
છોકરીનાં માતા-પિતા પણ એના ઉપર છોકરીને ભગાડી જવાનો કેસ કરી દેત.

થાણેદારે સમસ્યા ઉકેલી : થાણેદારે છોકરીને કેટલાક દિવસ સુધી નારી-નિકેતનમાં રહેવાની વ્યવસ્થા કરી અને છોકરીનાં માતા-પિતા વિરુદ્ધ ફરિયાદ લખાવીને રાખીપંદર દિવસ પછી તેણે છોકરીનાં લગ્ન મોહન સાથે કરાવી દીધાં.

મોહનને ઘરમાંથી કાઢી મૂકવામાં આવ્યો મોહને ભાઈ-ભાભીની મરજી વિરુદ્ધ લગ્ન કર્યા હતાં. છોકરી પણ બીજી નાતની હતી. તેથી ભાઈએ તેને ઘરમાંથી કાઢી મૂક્યો. હવે આગરામાં રહેવું તેમને માટે મુશ્કેલ હતું. એટલે તે પત્નીની સાથે વાલિયર આવી ગયો. અહીં કોઈ નોકરી ન મળતાં તેણે રિક્ષા ચલાવવાનું શરૂ કર્યું.

લેખકે મોહનની પ્રશંસા કરી : લેખકે મોહનની પ્રશંસા કરતાં કહ્યું, “હકીક્તમાં તું ખૂબ મોટો છે, મોહન !” મોટા મોટા લોકો તો નારીહિતનાં લાંબાં લાંબાં લેક્ટર આપે છે, લેખો અને કવિતાઓ લખે છે, પરંતુ વ્યવહારમાં કશું ઉતારતા નથી. તેં તો ખૂબ સહજભાવે એક છોકરીને મુસીબતમાંથી બચાવી લીધી અને એને પોતાના જીવનમાં સમ્માનપૂર્વક સ્થાન આપ્યું.

માતા-પિતા મળી ગયાં પાછા ફરતાં મોહન લેખક-દંપતીને સ્ટેશને પહોંચાડવા આવ્યો. લેખકે તેને પાંચસો રૂપિયાની નોટ આપવા માંડી ત્યારે તેણે કહ્યું કે મને માતા-પિતા જેવો પ્રેમ મળ્યો છે, આ સુખ મારા માટે પૈસા કરતાં વધારે છે.

લેખકની શરત મોહને લેખકને વિનંતી કરી કે જ્યારે તેઓ ગ્વાલિયર આવે ત્યારે તેને ચોક્કસ બોલાવે. લેખકે તેને કહ્યું કે જો તે પાંચસો રૂપિયા લેવાનું સ્વીકારશે તો જ તેઓ તેનો આગ્રહ માનશે.

છેવટે મોહને પાંચસો રૂપિયા લઈ લીધા. તેના પૂછવાથી લેખકે પોતાનું નામ ‘સત્યકેતુ અને પત્નીનું નામ “કામના’ કહ્યું. વિદાય થતી વખતે લેખકે મોહનની આંખોમાં ઊંડી આત્મીયતા જોઈ,

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 11 एक यात्रा यह भी

एक यात्रा यह भी Summary in English

The writer’s visit to a rickshawala : The writer had come to Gwalior to see a doctor. As he got down on the station, some rickshawalas followed him. The voice of a rickshawala from them attracted the writer. When he reached the clinic in his rickshaw he came to know that the doctor had changed the place of clinic. So he went there in the same rickshaw.

When the writer came out after an hour he was surprised to the rickshawala there. He realised that the rickshawala was different from other rickshawalas. The rickshawala told him his name ‘Mohan’ and gave the writer his phone number.

More introduction in the hotel : The writer stayed in a hotel. He had to go out in the city. When Mohan came to the hotel, the writer called him in his room to take tea.

Mohan’s autobiography : In the conversation Mohan addressed the writer ‘Babuji’ and ‘Amma to his wife. He told the writer that he belonged to Agra, his parents had died when he was young He was brought up by his elder brother. He had passed B.A. and had come to Gwalior to find job.

The girl trapped in trouble : Mohan told him that while he was wandering here and there in search of a job, an incident occured. A familiar girl called him and asked for his help to save her. The girl’s father had been getting her marriage with an old man. The girl wanted to die by jamping down in a well instead of marrying with the old man.

In the police station : Mohan went to the police station with the girl. He told everything to the police. The police said to Mohan, “Why do you not marry with the girl ?” The girl was ready to marry with Mohan.

Mohan’s problem : Mohan’s brother’s wife wanted him to marry with his own sister. He had a fear that his brother would also be displeased.

Moreover the girl’s parents would complain against him of kidnapping the girl.

The police solved the problem : The police sent the girl to live in the Narl-niketan and kept the complain ready against her parents. After fifteen days he got the girl to marry with Mohan.

Mohan was removed from the house : Mohan married the girl against his brother and brother’s wife’s willingness. The girl was also of another caste. So his brother removed him from the house. Now, it was difficult for him to live in Agra. So he came to Gwalior with his wife. Here he did not get any job, so he began to drive a rickshaw.

The writer praised Mohan: Praising Mohan the writing said, “Actually you are great. Mohan! The so called great persons give very long lectures about the welfare of women, write articles and poems, but they do not put anything in practice. You have saved the girl from trouble and gave her honourable place in her life.”

Met parents : Mohan came to leave the writer and his wife to the station. When the writer tried to give him a five hundred note he refused and said that he had got love as his parents from them. That happiness was more than money for him.

The condition of the writer : Mohan requested the writer to call him when he arrived in Gwalior. The writer told him that if he accepted five hundred rupees, he (the writer) would surely call him.

At last Mohan took five hundered rupees. When the writer asked he said that his name was ‘Satyaketu’ and his wife’s name was ‘Kamana’.

While departing the writer saw deep intimacy in Mohan’s eyes.

एक यात्रा यह भी Summary in Hindi

विषय-प्रवेश :

प्रस्तुत कहानी एक रिक्शावाले से संबंधित है। शिक्षित रिक्शावाले के पास इन्सानियत से भरा हुआ दिल है। वह संकट में पड़ी हुई एक युवती से विवाह कर लेता है। स्त्रियों के प्रति रिक्शावाले युवक का मानवीय दृष्टिकोण और उसके रिक्शे में सवारी करनेवाले पति-पत्नी से उसकी आत्मीयता हमारा दिल छ लेते हैं।

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 11 एक यात्रा यह भी

पाठ का सार :

आंटोवाले से लेखक की मुलाकात : लेखक अपनी पत्नी के साथ ग्वालियर में एक डॉक्टर से मिलने आया था। स्टेशन पर उतरते ही कई ऑटोवाले उसके पीछे पड़ गए। उनमें से एक ऑटोवाले की आवाज ने लेखक को आकर्षित किया। उसके ऑटो पर बैठकर वह डॉक्टर के क्लिनिक पहुंचा तो पता चला कि डॉक्टर ने क्लिनिक की जगह बदल दी थी।

उस ऑटो पर सवार होकर लेखक डॉक्टर की नई जगह पहुंचा। ऑटोवाला बाहर उसका इंतजार करता रहा। एक घंटे बाद लेखक बाहर आया तो अपना इंतजार करते ऑटोवाले को देखकर उसे आश्यर्च हुआ। उसे लगा कि यह ऑटोवाला दूसरे ऑटोवाले से कुछ अलग है। ऑटोवाले ने अपना नाम ‘मोहन’ बताया। उसने लेखक को अपना फोन नंबर दिया।

होटल में विशेष परिचय : लेखक एक होटल में ठहरा था। दूसरे दिन उसे शहर में घूमना था। मोहन होटल पर आया तो लेखक ने उसे चाय पीने के लिए अपने कमरे में बुला लिया।

मोहन की आपबीती : बातचीत में मोहन लेखक को ‘बाबूजी’ और उसकी पत्नी को ‘अम्मा’ कहकर संबोधित करता था। उसने लेखक को बताया कि वह आगरा का रहनेवाला है। उसके मां-बाप तो उसे बचपन में ही छोड़कर चल बसे थे। बड़े भाई ने उसकी परवरिश की। वह बी.ए. पास है। वह नौकरी की खोज में ग्वालियर आया था।

एक दुःखी लड़की की पुकार : मोहन ने बताया कि वह नौकरी की खोज में इधर-उधर भटक रहा था, तभी एक घटना घटी। एक परिचित लड़की ने उसे आवाज दी और अपने को बचाने के लिए सहायता मांगी। लड़की के पिता उसकी शादी एक बूढ़े आदमी से कर रहे थे। लड़की को उससे शादी करने की अपेक्षा कुएं में गिरकर मर जाना पसंद था।

पुलिस स्टेशन में : मोहन लड़की को लेकर पुलिस स्टेशन गया और थानेदार को सारी बात बताई। उसने मोहन से कहा, “तुम इससे शादी क्यों नहीं कर लेते?” लड़की मोहन से शादी करने को तैयार थी।

मोहन की उलझन : मोहन की भाभी उसकी शादी अपनी बहन से कराना चाहती थी। भाई का भी नाराज होने का डर था। लड़की के माँ-बाप भी उस पर अपनी लड़की भगा ले जाने का केस कर सकते थे।

थानेदार ने समस्या सुलझाई : थानेदार ने लड़की को कुछ दिन तक नारी-निकेतन में रखवा दिया और लड़की से माँ-बाप के खिलाफ शिकायत लिखवाकर रख ली। पंद्रह दिन बाद उसने लड़की से मोहन की शादी करवा दो।

मोहन को घर से निकाल दिया : मोहन ने लेखक को बताया कि उसने भाई-भाभी की मर्जी के विरुद्ध शादी की थी और लड़की भी दूसरी जाति की थी। इसलिए भाई ने उसे घर से निकाल दिया। अब आगरा में उनका रहना मुश्किल था। इसलिए वह पत्नी के साथ ग्वालियर आ गया। यहाँ कोई नौकरी न मिलने पर उसने ऑटो चलाना शुरू कर दिया।

लेखक ने मोहन की प्रशंसा की : लेखक ने मोहन की प्रशंसा करते हुए कहा, “वास्तव में तुम बहुत बड़े हो मोहन। बड़े-बड़े लोग तो नारी-हित में बड़े-बड़े लेक्चर देते हैं, लेख-कविताएं लिखते रहते हैं, किंतु उसे अपने व्यवहार में नहीं उतारते। लेकिन तुमने तो बहुत सहज भाव से एक लड़की को दुर्दशाग्रस्त होने से बचा लिया और अपने जीवन के साथ उसे सम्मानपूर्वक जोड़ लिया।”

मां-बाप मिल गए : वापसी में मोहन लेखक-दंपती को स्टेशन पहुंचाने आया। लेखक ने उसे पांच सौ रुपए का नोट देना चाहा। उसने कहा- आप दोनों से मुझे माता-पिता जैसा प्रेम मिला है। यह सुख मेरे लिए पैसों से बढ़कर है।

लेखक की शर्त : मोहन ने लेखक से प्रार्थना की कि जब कभी वे ग्वालियर आएं, तब उसे अवश्य बुला लें। इस पर लेखक ने कहा कि यदि वह पांच सौ रुपए लेना स्वीकार करे तो ही वे उसका आग्रह मानेंगे।

अंत में मोहन ने पांच सौ रुपए ले लिए। उसके पूछने पर लेखक ने उसे अपना नाम ‘सत्यकेतु’ और पत्नी का नाम ‘कामना’ बताया।
विदा होते समय लेखक ने मोहन की आंखों में गहरा अपनापन देखा।

GSEB Solutions Class 9 Hindi Chapter 11 एक यात्रा यह भी

एक यात्रा यह भी शब्दार्थ :

  1. यात्रा-भीरु – यात्रा करने से डरनेवाला।
  2. अंटसैट – मनमाना, जो मरजी में आए ऐसा, निरंकुश।
  3. आश्वस्ति – तसल्ली, आश्वासन।
  4. संकोच – हिचकिचाहट, झिझक।
  5. मूलतः – वास्तव में।
  6. परवरिश – पालन-पोषण।
  7. अवांछित – न चाही हुई।
  8. बदहवास – विकल।
  9. घिघयाना – करुण स्वर में प्रार्थना करना।
  10. अधेड़ – अधिक उम्र का, प्रौढ़।
  11. खूसट – अप्रिय।
  12. असमंजस – दुविधा।
  13. हकीकत – वास्तविकता, सच्चाई।
  14. हवालात – जेल।
  15. फिलहाल – इस समय।
  16. आकस्मिक – अचानक।
  17. संवेदना – सहानुभूति।
  18. मसीहा – देवदूत।
  19. खफा – नाराज।
  20. निबाह – गुजारा, निर्वाह।
  21. अप्रीतिकर – जिसमें प्रेम न हो।
  22. उद्विग्न – व्याकुल।
  23. दामन – पल्लू।
  24. दुर्दशाग्रस्त – बुरी दशा में पड़ा।
  25. उबारना – बचाना।
  26. पारिश्रमिक – मेहनताना, मेहनत की कमाई।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *