GSEB Solutions Class 10 Social Science Chapter 13 उत्पादन उद्योग

   

Gujarat Board GSEB Textbook Solutions Class 10 Social Science Chapter 13 उत्पादन उद्योग Textbook Exercise Important Questions and Answers.

उत्पादन उद्योग Class 10 GSEB Solutions Social Science Chapter 13

GSEB Class 10 Social Science उत्पादन उद्योग Textbook Questions and Answers

1. निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर सविस्तार से लिखो:

प्रश्न 1.
चीनी तथा खांडसरी के कारखाने कहाँ स्थापित किये गये ? क्यों ?
उत्तर:
चीनी के कारखाने गुजरात, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, कर्णाटक, आंध्र प्रदेश आदि राज्यों में है । यहाँ गन्ने का उत्पादन अधिक होता है । चीनी उद्योग वहीं पर होते है जहाँ गन्ने का उत्पादन अधिक होता है । क्योंकि पानी की मात्रा कम न हो जाये इसलिए 24 घण्टों में उसका रस निकालना जरूरी है नहीं तो उसमें चीनी की मात्रा कम हो जाती है ।

प्रश्न 2.
भारत में लोहा-फौलाद उद्योग पर संक्षिप्त टिप्पणी लिखो ।
उत्तर:
भारत में फौलाद बनाने की प्रक्रिया बहुत ही पुरानी है ।

  • दमास्कस से तलवार बनाने के लिए लोहे का आयात किया जाता था ।
  • भारत में आधुनिक रूप से लोहा बनाने का प्रथम कारखाना तमिलनाडु के पोटौनोवा में स्थापित हुआ था । परंतु यह बंद हो । गया था ।
  • पश्चिम बंगाल में सर्वप्रथम कुल्टी में कच्चे लोहे का सफल उत्पादन हुआ ।
  • सन् 1907 में झारखंड के जमशेदपुर में लोहे के कारखाने की स्थापना से उत्पादन बड़े स्तर पर शुरू हुआ था ।
  • पश्चिम बंगाल के बर्नपुर में तथा कर्णाटक के भद्रावती में अन्य कारखाने स्थापित हुए ।
  • भिलाई, राउरकेला, दुर्गापुर में भी लोहा-फौलाद का कारखाना स्थापित किया गया ।
  • बोकारो, विशाखापट्टनम और सेलम में आधुनिक तथा बड़े कारखाने स्थापित किये गये ।
  • लोहा-फौलाद बनाने के लिए लोह अयस्क, कोयला, चूना पत्थर, मेग्निज का कच्चे माल के रूप में उपयोग होता है ।
  • गुजरात में हजीरा के पास मिनी स्टील प्लान्ट प्रस्थापित किया गया है ।
  • टाटा के अलावा लौहा-फौलाद के कारखानों का संचालन ‘स्टील ऑथोरिटी ऑफ इण्डिया लिमिटेड (S.A.I.L.)’ करती है ।।
  • भारत का लोहा-फौलाद उत्पादन में विश्व में पाँचवा स्थान है ।

प्रश्न 3.
उद्योगों के महत्त्व पर संक्षिप्त टिप्पणी लिखिए ।
उत्तर:
वर्तमान में राष्ट्रों का अस्तित्व उद्योगों के विकास पर ही आधारित है ।

  • औद्योगिक विकास के बिना आर्थिक विकास संभव नहीं है ।
  • जो देश औद्योगिक दृष्टि से जितना अधिक विकास प्राप्त करता है वह देश अर्थव्यवस्था में उतना ही मजबूत होगा ।
  • USA, अमेरिका, रशिया, जापान, दक्षिण कोरिया जैसे देश अपने औद्योगिक आधार पर ही समृद्ध और विकसित राष्ट्र बने है ।।
  • जिन देशों ने औद्योगिक विकास कम किया है वहाँ प्राकृतिक संसाधनों का उपयोग उद्योगों में कच्चे माल के रूप में नहीं कर सकते है ।
  • भारत की समग्र राष्ट्रीय उत्पादन में उद्योगों का हिस्सा 29% है ।
  • सन् 1853 से औद्योगिक क्रांति के 70 वर्ष तक भारत में आधुनिक पद्धति के उद्योगों की स्थापना नहीं हो सकी ।
  • भारत का आधुनिक औद्योगिक विकास का इतिहास 163 वर्ष पुराना है ।
  • सन् 1853 में चारकोल आधारित प्रथम ‘लोहे की भट्टी’ की औद्योगिक इकाई की स्थापना की गयी, जो असफल रही है ।
  • सर्वप्रथम सफल प्रयत्न 1854 में सूती कपड़ा उद्योग में हुआ । इसके बाद 1855 में कोलकता के पास रिसरा में शन का कारखाना स्थापित हुआ ।
  • इसके बाद 1874 में कुल्टी में कच्चा लोहा बनाने का कारखाना स्थापित किया गया, जो कुछ वर्ष बाद बंद पड़ गया । जो 1981 में पुनः शुरू किया गया ।
  • सन् 1907 में जमशेदपुर में टाटा लोहा फौलाद की कंपनी स्थापित की गयी ।

GSEB Solutions Class 10 Social Science Chapter 13 उत्पादन उद्योग

प्रश्न 4.
सूती कपड़ा उद्योग के सामने चुनौतियाँ बताइए ।
उत्तर:
सूती कपड़ा उद्योग के सामने निम्नलिखित चुनौतियाँ है –

  • उत्तम प्रकार के कपास की कमी,
  • पुराने यंत्रों और पद्धतियों का उपयोग,
  • विद्युत की अनियमित पूर्ति,
  • कृत्रिम रेशे के कपड़े से प्रतिस्पर्धा,
  • वैश्विक बाजार में तीव्र स्पर्धा की समस्या आदि ।

2. निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर मुद्दासर लिखिए:

प्रश्न 1.
गुजरात के रसायन उद्योगों के केन्द्र बताओ तथा चार रसायन उद्योगों की जानकारी दीजिए ।
उत्तर:
गुजरात में अहमदाबाद, बड़ोदरा, अंकलेश्वर, भरूच आदि स्थानों पर रासायनिक उद्योग के केन्द्र है । रसायन उद्योग में कृत्रिम रेसा, कृत्रिम रबड़, प्लास्टिक उद्योग, रंग, दवा, सोडा एश, कास्टिक सोडा, क्लोरिन, गंधक का तेजाब, नाइट्रिक एसिड आदि का समावेश होता है ।

प्रश्न 2.
रेलवे इन्जिन के प्रकार बताकर उसके उत्पादक स्थलों की जानकारी दीजिए ।
उत्तर:
रेलवे इन्जिन के तीन प्रकार है :

  1. वाष्प इन्जिन
  2. डिजल इन्जिन
  3. विद्युत इन्जिन ।

डिजल इन्जिन और विद्युत इन्जिन का उत्पादन पश्चिम बंगाल में चितरंजन लोकोमोटिव वर्क्स, वाराणसी में डीजल लोकोमोटीव वर्क्स में तथा जमशेदपुर में टाटा लोकोमोटिव वर्क्स में होता है ।

प्रश्न 3.
पर्यावरण अतिक्रमण रोकने के उपाय लिखिए ।
उत्तर:
देश का विकास हो तब पर्यावरण का विनाश न हो इस तरह से विकास करना ।

  • औद्योगिक विकास का उचित आयोजन करके प्रदूषण की मात्रा घटा सकते हैं ।
  • उपकरणों की गुणवत्ता तथा ईंधन की पसंदगी द्वारा भी प्रदूषण कम कर सकते है ।
  • हवा में उत्सर्जित होते प्रदूषण को फिल्टर, स्क्रबर, यंत्र, प्रेसिपिटेटर्स द्वारा नियंत्रित कर सकते हैं ।
  • उद्योगों के प्रदूषित पानी को नदियों में छोड़ने से पहले शुद्धीकरण करके जल प्रदूषण का निवारण कर सकते है ।
  • उद्योगों के प्रदूषित पानी को प्रक्रिया द्वारा शुद्ध कर सकते हैं ।

प्रश्न 4.
सूती कपड़ा उद्योग की समस्याएँ बताइए।
उत्तर:
सूती कपड़ा उद्योग उत्पादन और रोजगारी की दृष्टि से देश का मुख्य उद्योग है ।

  • चीन के बाद सूती कपड़ा निर्यात में भारत का दूसरा स्थान है ।
  • सर्प्रथम सूती कपड़े की मिल मुम्बई में स्थापित हुई । उसके बाद अहमदाबाद में शाहपुर और केलिको मिल स्थापित हुई ।
  • सस्ते कपास, श्रमिकों की उपलब्धि, परिवहन सुविधा, निर्यात के लिए बन्दरगाह तथा बाजार क्षेत्र की अनुकूलता के कारण मुम्बई और अहमदाबाद में सूती कपड़े का अधिक विकास हुआ ।
  • वर्तमान में देश में लगभग 100 नगरों में सूती कपड़े की मिले है ।
  • वर्तमान में मुम्बई, अहमदाबाद, भिवंडी, सोलापुर, कोल्हापुर, नागपुर, इंदोर और उज्जैन सूती कपड़े के मुख्य केन्द्र है ।
  • महाराष्ट्र में मुम्बई में सूती कपड़े की मिले अधिक होने से उसे सूत्ती कपड़े का विश्व महानगर कहते हैं ।
  • गुजरात में अहमदाबाद का पूर्व का मान्चेस्टर, ‘डेनिम सिटी ऑफ इण्डिया’ कहा जाता है ।
  • गुजरात में बड़ोदरा, सुरत, कलोल, भरूच, पोरबन्दर, भावनगर, राजकोट मुख्य सूती कपड़ा उत्पादक केन्द्र है ।
  • तमिलनाडु में कोयम्बतूर, चैन्नई, मदुराई, उत्तर प्रदेश में कानपुर, इटावा, आग्रा, लखनऊ, मध्य प्रदेश में इन्दोर, ग्वालियर, उज्जैन, बंगाल में कोलकाता, हावड़ा, मुर्शिदाबाद मुख्य केन्द्र है ।
  • इन केन्द्रों में व्यापक बाजार, परिवहन, बैंक और विद्युत की सुविधा के कारण सूत्ती कपड़े का अधिक विकास हुआ है ।
  • वर्तमान में उत्तम कपास की कमी, पुराने यंत्र, अनियमित विद्युत आपूर्ति, कृत्रिम रेशा के कपड़े से स्पर्धा तथा वैश्विक बाजार में तीव्र स्पर्धा की समस्याओं का सामना कर रहा है ।
  • भारत रशिया, UK, USA, सुडान, नेपाल, ऑस्ट्रेलिया, फ्रांस तथा दक्षिण अफ्रीका के देशों को सूती कपड़ा निर्यात करता है ।

3. निम्नलिखित प्रश्नों के संक्षिप्त में उत्तर दीजिए:

प्रश्न 1.
भारत में जहाज निर्माण के मुख्य केन्द्र कितने है ? कहाँ ? कौन से ?
उत्तर:
भारत में जहाज निर्माण के मुख्य 5 केन्द्र है

  1. विशाखापट्टनम
  2. कोलकाता
  3. कोची
  4. मुम्बई
  5. मार्मागोवा ।

इसके अलावा निजी क्षेत्र की परवहन की गोदियाँ स्थानिय आवश्यकता को पूरी करती है ।

प्रश्न 2.
सिमेन्ट बनाने का कच्चा माल लिखिए ।
उत्तर:
सिमेन्ट बनाने का कच्चा माल चूना पत्थर, कोयला, जिप्सम, बोक्साइट, मिट्टी का उपयोग होता है । कच्चा माल और उत्पादन में वजन में भारी होने से सिमेन्ट के कारखाने जहाँ कच्चा माल अधिक मात्रा में उपलब्ध है वहाँ स्थापित है ।

GSEB Solutions Class 10 Social Science Chapter 13 उत्पादन उद्योग

प्रश्न 3.
गुजरात में रासायनिक खाद के उद्योग कहाँ पर स्थापित हुए है ?
उत्तर:
गुजरात में कलोल, कंडला, हजीरा, भरूच, बड़ोदरा आदि स्थानों पर रासायनिक खाद के कारखाने स्थापित हुए है ।

प्रश्न 4.
गुजरात में कागज उद्योग के चार केन्द्र बताओ ।
उत्तर:
गुजरात में कागज उद्योग के चार केन्द्र – अहमदाबाद, राजकोट, सूरत और वापी मुख्य है । इसके अलावा वलसाड, बड़ोदरा में भी कागज उद्योग विकसित हुआ है ।

4. निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर सही विकल्प चुनकर दीजिए:

प्रश्न 1.
निम्न में से किस नगर को सूती कपड़े का विश्व महानगर कहते हैं ?
(A) इंदोर
(B) मुंबई
(C) अहमदाबाद
(D) नागपुर
उत्तर:
(B) मुंबई

प्रश्न 2.
विश्व में पटसन के निर्यात में भारत का कौन-सा स्थान है ?
(A) द्वितीय
(B) प्रथम
(C) तृतीय
(D) एक भी नहीं
उत्तर:
(B) प्रथम

प्रश्न 3.
भारत का कौन-सा नगर ‘सिलिकोन वेली’ के रूप में प्रसिद्ध हुआ है ?
(A) दिल्ली
(B) बेंग्लौर
(C) जयपुर
(D) नागपुर
उत्तर:
(B) बेंग्लौर

GSEB Solutions Class 10 Social Science Chapter 13 उत्पादन उद्योग

प्रश्न 4.
गुजरात में मिनी स्टील प्लांट कहाँ पर स्थित है ?
(A) कंडला
(B) ओख्रा
(C) द्वारका
(D) हजीरा
उत्तर:
(D) हजीरा

प्रश्न 5.
निम्न में से कौन-सा जोड़ा असत्य है ?
(A) बंगाल – कुल्टी
(B) झारखंड – जमशेदपुर
(C) कर्णाटक – भद्रावती
(D) आंध्रप्रदेश – बर्नपुर
उत्तर:
(D) आंध्रप्रदेश – बर्नपुर

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *