GSEB Class 9 Social Science Important Questions Chapter 14 भारत: स्थान, भूस्तरीय रचना और भूपृष्ठ – II

   

Gujarat Board GSEB Class 9 Social Science Important Questions Chapter 14 भारत: स्थान, भूस्तरीय रचना और भूपृष्ठ – II Important Questions and Answers.

GSEB Class 9 Social Science Important Questions Chapter 14 भारत: स्थान, भूस्तरीय रचना और भूपृष्ठ – II

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर संक्षिप्त में दीजिए:

प्रश्न 1.
भू-पृष्ठ की विविधता की दृष्टि से भारत को किन भागों में बाँटा गया है ?
उत्तर:
भूपृष्ठ की विविधता की दृष्टि से भारत को निम्न 5 भागों में बाँटा गया है :

  1. उत्तर का पर्वतीय प्रदेश
  2. उत्तर का विशाल मैदानी प्रदेश
  3. प्रायद्विपीय पठारी प्रदेश
  4. तटीय मैदान
  5. द्वीप समूह ।

प्रश्न 2.
भारतीय उपमहाद्वीप में आये प्रसिद्ध पर्वत शिखरों की ऊँचाई दर्शाइए ।
उत्तर:
माऊण्ट एवरेस्ट 8848 मीटर, K2 (माउन्ट गोडविन ऑस्टिन) 8611 मीटर, कंचनजंघा 8598 मीटर, मकालू 8481 मीटर, धौलागिरि 8198 मीटर तथा अन्नपूर्णा 8070 मीटर ऊँचे प्रसिद्ध दरें है । इसमें माऊण्ट एवरेस्ट, नेपाल तथा अन्य भारत के दरें है ।

प्रश्न 3.
दक्कन पठार की संक्षिप्त में जानकारी दीजिए ।
उत्तर:
यह भारत का सबसे प्राचीन भाग है जो उल्टे त्रिभुज के आकार में फैला है ।

  • इसकी औसत ऊँचाई 600 से 900 मीटर है ।
  • इसके उत्तरी भाग का ढाल उत्तर पूर्व की ओर हैं, जो चंबल, सोन और सोन नदियों के प्रवाह द्वारा स्पष्ट होता हैं ।
  • दक्षिण भाग का ढाल दक्षिण-पूर्व की ओर है । .
  • इसका बड़ा हिस्सा दक्षिण की ओर तीनों तरफ से समुद्र से घिरा होने के कारण प्रायद्विपीय प्रदेश कहलाता है ।

प्रश्न 4.
विभिन्न चट्टानें पाये जानेवाले खनिज की जानकारी दीजिए ।
उत्तर:
1. आग्नेय चट्टानें – लोहा, ताँबा, सोना, चाँदी आदि ।
2. परतदार चट्टानें – कोयला, खनिज तेल और प्राकृतिक गैस आदि ।
3. रूपांतरित चट्टानें – स्टेल, संगमरमर, हीरा आदि ।

GSEB Class 9 Social Science Important Questions Chapter 14 भारत: स्थान, भूस्तरीय रचना और भूपृष्ठ – II

प्रश्न 5.
लाल मिट्टी की विशेषताएँ लिखिए ।
उत्तर:
लाल मिट्टी आग्नेय और रूपांतरित चट्टानोंवाले क्षेत्रों में पायी जाती है ।

  • लोह तत्त्व और अन्य जैविक तत्त्वों के कारण इसका रंग लाल दिखाई देता है ।
  • यह जमीन अनुपात में छिद्रालु और उपजाऊ होती है ।
  • गोवा, तमिलनाडु, केरल, आंध्र प्रदेश, उड़ीसा, झारखंड आदि राज्यों में पायी जाती है ।

प्रश्न 6.
मरूस्थलीय मिट्टी की जानकारी दीजिए ।
उत्तर:
यह मिट्टी शुष्क और अर्द्धशुष्क क्षेत्रों में पायी जाती है ।

  • क्षारकणों की अधिकता और जैविक पदार्थों की कमी पायी जाती है ।
  • सिंचाई की सुविधा से इस मिट्टी में खेती संभव हो सकती है ।
  • भारत में मुख्यत: गुजरात, राजस्थान, पंजाब और हरियाणा के शुष्क क्षेत्रों में पायी जाती है ।

प्रश्न 7.
मालवा का पठार कहाँ से कहाँ तक फैला हआ है ? इनकी क्या विशेषताएँ है ?
उत्तर:
मालवा का पठार विन्ध्याचल के उत्तरी भाग में गंगाघाटी तक तथा पश्चिमी में अरावली तक फैला हुआ त्रिभुजाकार पठारी भाग है । इसमें राजस्थान का दक्षिणी-पूर्वी पठारी भाग बुन्देलखण्ड, बधेलखण्ड तथा मुख्य मालवा भूमि के क्षेत्र शामिल है । चम्बल और उसकी सहायक नदियों द्वारा बने ‘बीहड़’ इस भाग की विशेषता है । इन बिहड़ों ने धरातल को इस तरह काट दिया है कि परिवहन, कृषि, सिंचाई कठिन हो गया है ।

प्रश्न 8.
पूर्व की पहाड़ियों के नाम बताइये । इनकी क्या विशेषता है ?
उत्तर:
ब्रह्मपुत्र के मोड़ से लेकर दक्षिण-पूर्वी दिशा में ये पहाड़ियाँ दो पंक्तियों में फैली हुई है पहली पंक्ति में पूर्व से पश्चिम फैली गारो, खासी एवं जयन्तिया है । दूसरी पंक्ति में उत्तर से दक्षिण को क्रमशः पटकोई, नाग, मणिपुर, कछार, मिजो एवं लुशाई की पहाड़ियाँ है । ये श्रेणियाँ आगे बर्मा में प्रवेश करके अराकान योमा में मिल जाती है । ये पहाड़ियाँ तीव्र गर्मी तथा अधिक वर्षा के कारण सदाबहार वनों से ढकी हुई है, अत एव दुर्गम है ।

GSEB Class 9 Social Science Important Questions Chapter 14 भारत: स्थान, भूस्तरीय रचना और भूपृष्ठ – II

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर आवश्यकतानुसार दीजिए:

प्रश्न 1.
भारत के मुख्य खनिज और उनका क्षेत्रीय वितरण की जानकारी दीजिए ।
उत्तर:

खनिज राज्य
लोहा झारखंड, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश, गोवा, उड़ीसा, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, राजस्थान, कर्नाटक, बिहार, मध्य प्रदेश
मैंगनीज कर्नाटक, ओडिसा, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गोवा
तांबा गुजरात, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश, सिक्किम, मेघालय, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल
बॉक्साइट ओडिसा, आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, झारखंड, गुजरात
सीसा राजस्थान, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, ओडिसा, महाराष्ट्र, मेघालय, सिक्किम, गुजरात
अभ्रक आंध्र प्रदेश, राजस्थान, बिहार, झारखंड
चूना-पत्थर मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश, राजस्थान, गुजरात, कर्नाटक, हिमाचल प्रदेश

प्रश्न 2.
उत्तर के विशाल मैदान की विशेषताएँ लिखिए ।
उत्तर:
हिमालय से विन्ध्याचल तथा ब्रह्मपुत्र से लेकर सिंधु तक यह मैदान फैला हुआ है ।

  • यह मैदान विश्व के सबसे घने बसे एवं उपजाऊ मैदानों में से एक है ।
  • सिंधु तथा उसकी सहायक नदियों द्वारा निर्मित पश्चिमी भाग पाकिस्तान में चला गया है ।
  • इसे गंगा, सतलुज तथा ब्रह्मपुत्र का मैदान कहा जाता है ।
  • हिमालय के निर्माण के साथ ही उसके सहारे दरारी घाटी का भी निर्माण हुआ, जो नदियों द्वारा लाई गयी काँप मिट्टी से भर गई और विशाल मैदान की उत्पत्ति हुई ।
  • यह मैदान अत्यधिक समतल और उपजाऊ है ।
  • यह मैदान लगभग 2400 कि.मी. लम्बा तथा इसकी चौड़ाई 150 से 300 कि.मी. तक है ।
  • दिल्ली से आगे तक अरावली का बढ़ा हुआ भाग ही इसका जल-विभाजक है ।
  • इसकी पूर्व की सभी नदियाँ बंगाल की खाड़ी तथा पश्चिम की सभी नदियाँ अरब सागर में गिरती है ।
  • भूरचना की दृष्टि से इस मैदान को चार भागों में बाँटा गया है ।

प्रश्न 3.
दक्खन के पठार का संक्षिप्त में वर्णन कीजिए ।
उत्तर:
यह पर्वत तीन तरफ से पर्वतों से घिरा है । उत्तरी ओर विन्ध्याचल, सतपुड़ा, महादेव तथा मैकाल की पहाड़ियाँ है ।

  • पश्चिमी घाट में तीन दर्रे – थाल घाट, भोरघाट एवं पालघाट है ।
  • पूर्वी घाट सह्याद्रि की भाँति क्रमिक नहीं है तथा नीचा भी है ।
  • पठार का ऊपरी (उत्तरी) भाग लावा के विखण्डन से बनी काली मिट्टी का प्रदेश है, जो कपास की खेती के लिए उपयोगी है ।
  • उत्तरी पूर्वी पठारी भाग छोटा नागपुर कहलाता है, जिसे दामोदर और उसकी सहायक नदियों ने विखण्डित कर दिया है । यह खनिजों का भण्डार है ।
  • शेष दक्षिणी भाग से मुख्य दक्खन कहा जाता है ।
  • नदी घाटियों द्वारा विभाजित अवशिष्ट पठारी भाग है ।
  • इसके अन्तर्गत कर्नाटक और आंध्र प्रदेश के भीतरी भाग शामिल है ।

GSEB Class 9 Social Science Important Questions Chapter 14 भारत: स्थान, भूस्तरीय रचना और भूपृष्ठ – II

प्रश्न 4.
हिमालय प्राकृतिक रूप से कितने भागों में विभक्त है ? महाहिमालय श्रेणी का वर्णन कीजिए ।
उत्तर:
प्राकृतिक रूप से हिमालय को तीन भागों में विभक्त किया गया है । महाहिमालय – इसे बृहद् या मुख्य हिमालय भी कहा जाता है । यह हिमालय की सबसे प्रमुख एवं सबसे उत्तरी श्रेणी है जो सिन्धु नदी के मोड़ से लेकर ब्रह्मपुत्र के मोड़ तक निरन्तर चली गई है । यह श्रेणी उच्चतम श्रेणी है जिसकी औसत ऊँचाई 6000 मीटर है ।

इसमें विश्व की सर्वोच्च शिखर माउण्ट एवरेस्ट (8848 मीटर) स्थित है । इस श्रेणी की अन्य प्रसिद्ध चौटियाँ धौलागिरि, कंचनजंघा, नन्दादेवी, नंगा पर्वत, गोडविन आस्टिन, अन्नपूर्णा, मकालू, बद्रीनाथ आदि है । ये श्रेणियाँ बर्फ से ढ़की रहती है । इस श्रेणी में मुख्य दर्रे – काराकोरम, जोजिया, नाथू-ला, शिनकी-ला, जेल्प-ला एवं चुम्बी घाटी है । इन दरों से तिब्बत और चीन से स्थलीय व्यापार होता है ।।

प्रश्न 5.
भारत के समुद्री तटीय मैदान के कुल कितने उपविभाग किये गये हैं ? उनका विस्तार लिखो ।
उत्तर:
भारत के तटीय मैदान को पाँच उपविभागों में बाँटा गया है :

  • गुजरात तट – यह गुजरात की समुद्री सीमा तक है ।
  • कोंकण तट – यह महाराष्ट्र से गोवा तक है ।
  • मलाबार तट – गोवा के दक्षिणी भाग को मलाबार तट कहते हैं । यह केरल के किनारे स्थित है ।
  • उत्तरी सरकार तट – यह पूर्वी तटीय मैदान का उत्तरी भाग है ।
  • कारोमंडल तट – यह कर्णाटक राज्य के दक्षिण में कन्याकुमारी तक फैला हुआ है ।

प्रश्न 6.
विशाल मैदान का भौतिक दृष्टि से कितने भागों में विभाजन किया गया है ? समझाइए ।
उत्तर:
विशाल मैदान को भौतिक दृष्टि से निम्न चार भागों में विभक्त किया गया है :

  • भाबर – सतलुज और गंगा के मैदान में कंकड़-पत्थरों से ढका हुआ भाग भाबर कहलाता है ।
  • तराई – भाबर प्रदेश के आगे अदृश्य रूप से प्रवाहित जल धारा पुन: धारा पुनः धरातल पर प्रकट होती है । ढाल की कमी के कारण यत्र-तत्र दलदल पाये जाते है । जिससे बड़ी घास, सघन वन एवं अन्य जन्तुओं की बहुलता पाई जाती है ।
  • बांगड़ – प्राचीन काँप से निर्मित अपेक्षाकृत उच्च भाग को बागड़ कहा जाता है । यहाँ सामान्यतया वर्षाकाल में बाढ़ का जल नहीं पहुँच पाता है । यहाँ जल अधिक गहरा होता है । यहाँ चूनायुक्त कंकरीली मिट्टियाँ मिलती है, जिससे आद्रता कम मिलती है । इस भूमि का विस्तार पंजाब व उत्तर प्रदेश में अधिक है ।
  • खादर – ये नवीन काँप निर्मित निचले मैदान है जो वर्षाकाल में बाढ़ग्रस्त हो जाते है । वहाँ बाढ़ का पानी प्रतिवर्ष पहुंचकर मिट्टी की नई परत जमा करता है । ऐसे निचले मैदानों को खादर कहते हैं । पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार व पश्चिमी बंगाल में
    खादर की अधिकता है ।

निम्नलिखित प्रश्नों के विस्तार से उत्तर दीजिए:

प्रश्न 1.
चट्टान किसे कहते हैं ? चट्टानों के प्रकार समझाइए ।
उत्तर : चट्टान : एक या उससे अधिक खनिजों से बने संगठित पदार्थ को चट्टान कहते हैं ।
चट्टानों के प्रकार:
1. आग्नेय चट्टान : इन चट्टानों के निर्माण में भूगर्भ में रही प्रचंड गर्मी जिम्मेदार है । भूगर्भ में गर्मी के इस प्रचंड प्रमाण के कारण भूगर्भ हमेशा धहकता रहता है, जिससे वहाँ स्थित सभी पदार्थ अर्धद्रव स्थिति में होते हैं । उन पदार्थों को ‘मैग्मा’ कहते हैं । यही मैग्मा ठंडी होकर चट्टान का रूप धारण कर लेता है । ये चट्टान गर्मी के प्रभाव से निर्मित होते हैं, इसीलिए इन्हें आग्नेय या अग्निकृत चट्टान कहते हैं । भारत में राजस्थान, मध्य प्रदेश और दक्षिणी प्रायद्वीप में कई स्थानों पर ऐसी चट्टानों का निर्माण हुआ है । आग्नेय चट्टानें सबसे ।
अधिक कठोर होती हैं । ‘ग्रेनाइट’ अंतस्थ प्रकार की चट्टानों का प्रसिद्ध दृष्टांत है, बेसाल्ट भी इसी प्रकार की चट्टान हैं ।

2. परतदार चट्टान : पानी तथा अन्य बलों के संयुक्त प्रभाव से आग्नेय चट्टानें टूटती हैं । चट्टानों के टुकड़े जब जल द्वारा निक्षेपित होते हैं तब उनसे परत बनती है । इस तरह, चट्टान के टुकड़ों अथवा चट्टान के बोझ का विविध स्तरों में निक्षेपण होता है । सर्वप्रथम निर्मित और सबसे नीचे की परत पर उसके ऊपर बनी परतों के वजन (दबाव) के कारण दबाव पड़ता है और आनेवाले युग में उनसे परतयुक्त चट्टानें तैयार होती हैं, इसीलिए ऐसी चट्टानों को ‘परतदार चट्टान’ कहते हैं । सेलखड़ी (जिप्सम), चूना पत्थर और कोयला
परतदार चट्टान के श्रेष्ठ उदाहरण हैं । बिहार और झारखंड वगैरह राज्यों में से कोयला और सेलखड़ी मिलता है ।

3. रूपांतरित चट्टान : कुछ विशिष्ट परिस्थिति में मूल चट्टानों का स्वरूप, संरचना और गुणधर्म रूपांतरित हो जाते हैं । वास्तव में उच्च तापमान और चट्टानों के स्तरों का अधिक दबाव, इन दो मुख्य परिबलों के संयुक्त प्रभाव के कारण आग्नेय और परतदार चट्टानें एकदम नया स्वरूप धारण करती हैं । इन नवनिर्मित चट्टानों को रूपांतरित चट्टान कहते हैं । राजस्थान से मिलनेवाले संगमरमर (मार्बल) और क्वार्टजाइट इसके उत्तम उदाहरण हैं ।

विभाग ‘अ’ में दी गई विगतों को विभाग ‘ब’ की विगतों के साथ योग्य क्रम में जोड़िए :

विभाग ‘अ’ विभाग ‘ब’
(1) टेथिस महासागर का निर्माण (1) बुंदेलखण्ड
(2) काँपमय मिट्टी से बना (2) दिहाँग
(3) भारत की सबसे पुरानी पर्वत श्रेणी (3) हिमालय
(4) सांग्पो नदी के U आकार का मोड़ (4) उत्तर का विशाल मैदान
(5) दो नदियों के बीच की जमीन (5) अरावली
(6) गंगा तथा ब्रह्मपुत्र का संयुक्त प्रवाह (6) दो-आब
(7) काँपमय मिट्टीवाला विशाल मैदान (7) मेघना
(8) देश का सबसे प्राचीन भाग (8) डेल्टा
(9) अरावली के पश्चिम में स्थित प्रदेश (9) प्रायद्विपीय पठारी प्रदेश
(10) मध्यवर्ती पठारी भूमि का उत्तरी-पूर्वी भाग (10) थरपारकर का रेगिस्तान
(11) तमिलनाडू का मुख्य पर्वत (11) नीलगिरि
(12) प्रवाल द्वीपों का नाम (12) ऐटोला
(13) निमज्जन पर्वत श्रेणियों के शिखर (13) अंदमान-निकोबार द्वीप समूह

उत्तर:

विभाग ‘अ’ विभाग ‘ब’
(1) टेथिस महासागर का निर्माण (1) बुंदेलखण्ड
(2) काँपमय मिट्टी से बना (2) दिहाँग
(3) भारत की सबसे पुरानी पर्वत श्रेणी (3) हिमालय
(4) सांग्पो नदी के U आकार का मोड़ (4) उत्तर का विशाल मैदान
(5) दो नदियों के बीच की जमीन (5) अरावली
(6) गंगा तथा ब्रह्मपुत्र का संयुक्त प्रवाह (6) दो-आब
(7) काँपमय मिट्टीवाला विशाल मैदान (7) मेघना
(8) देश का सबसे प्राचीन भाग (8) डेल्टा
(9) अरावली के पश्चिम में स्थित प्रदेश (9) प्रायद्विपीय पठारी प्रदेश
(10) मध्यवर्ती पठारी भूमि का उत्तरी-पूर्वी भाग (10) थरपारकर का रेगिस्तान
(11) तमिलनाडू का मुख्य पर्वत (11) नीलगिरि
(12) प्रवाल द्वीपों का नाम (12) ऐटोला
(13) निमज्जन पर्वत श्रेणियों के शिखर (13) अंदमान-निकोबार द्वीप समूह

GSEB Class 9 Social Science Important Questions Chapter 14 भारत: स्थान, भूस्तरीय रचना और भूपृष्ठ – II

नीचे दिए भारत के प्राकृतिक मानचित्र का अध्ययन कीजिए और उसमें प्रदर्शित विगतों को याद कीजिए:
GSEB Class 9 Social Science Important Questions Chapter 14 भारत स्थान, भूस्तरीय रचना और भूपृष्ठ – II 1

निम्नलिखित विषयों पर संक्षिप्त टिप्पणी लिखिए :

प्रश्न 1.
पश्चिम तटीय मैदान :
उत्तर:
यह मैदान खम्भात की खाड़ी से कन्याकुमारी तक पश्चिमी घाट तथा अरब सागर के बीच फैला हुआ है । कुछ स्थानों पर इसकी ऊँचाई 50 कि.मी. से अधिक नहीं होती ।

  • इसके उत्तरी भाग को कोंकण तट तथा गोवा के दक्षिणी भाग को मलाबार तट कहते हैं ।
  • असंख्य छोटी तथा तीव्रगामी नदियाँ पश्चिमी घाट से निकलकर इस मैदान में बहती है । नर्मदा और ताप्ती इसमें बहनेवाली बड़ी
  • नदियाँ है । पश्चिमी तट की नदियाँ अपने डेल्टा क्षेत्र में खाड़ी का निर्माण करती है ।
  • पश्चिमी तट पर प्राकृतिक बन्दरगाह है जिनमें मुम्बई तथा मार्मागोवा का समावेश होता है ।
  • तटवर्ती भाग मत्स्य उद्योग तथा नारियल के कुंजों के लिए महत्त्वपूर्ण है ।

प्रश्न 2.
बाह्य हिमालय :
उत्तर:
इसे उपहिमालय या शिवालिक की श्रेणियाँ भी कहते हैं ।

  • यह मध्य हिमालय की श्रेणियों के दक्षिण में 10 से 15 कि.मी. की चौड़ाई में फैली है । इनकी ऊँचाई 100 से 1100 मीटर के बीच है ।
  • इनमें अधिकतर भूस्खलन हुआ करता है ।
  • ये पर्वत सम्पूर्ण रूप से निक्षेपित चट्टानों की बनी हुई नहीं हैं ।
  • लघुहिमालय तथा इसके बीच कई चौरस घाटियाँ है जिन्हें पूर्व में द्वार तथा पश्चिम में दून कहते हैं । दहेरादून ऐसी ही घाटी में स्थित है।

निम्नलिखित विधानों के लिए भौगोलिक कारण दीजिए :

प्रश्न 1.
उत्तरी मैदान में आबादी घनी है ।
उत्तर:
मनुष्य ऐसे स्थानों पर निवास करना पसंद करता है जहाँ उसे सब सुविधाएँ सुलभ हो ।

  • उत्तर का विशाल मैदान नदियों द्वारा लाकर बिछाई हुई काँपमय मिट्टी से बना हुआ है जो कृषि के लिए उपयोगी है !
  • यह मैदान लगभग समतल है और उसकी ऊबड़-खाबड़ जमीन के बीच बहुत कम अन्तर है ।
  • यहाँ परिवहन की सुविधाओं का विकास आसानी से सम्भव है ।
  • यहाँ की उपजाऊ जमीन, अनुकूल जलवायु तथा पर्याप्त जल खेती के विकास में बहुत उपयोगी सिद्ध हुआ है ।
  • यहाँ पर उद्योगों का विकास बहुत आसानी से हुआ है ।
  • इसलिए यहाँ पर घनी आबादी देखने को मिलती है ।

GSEB Class 9 Social Science Important Questions Chapter 14 भारत: स्थान, भूस्तरीय रचना और भूपृष्ठ – II

प्रश्न 2.
हिमालय में मोड़दार आकार देखने को मिलता है ।
उत्तर:
आज जहाँ हिमालय विद्यमान है वहाँ पहले एक कमजोर भाग था । यह एक भूसगति के रूप में एक संकरी कमजोर तलीवाला सागरीय भाग था । इसके उत्तर के भाग को लारेशिया तथा दक्षिण का भाग गोडवानालैण्ड था । इस (टैथिस सागर) में दोनों ओर प्रवाहित जल के साथ तलछट जमती गई । तलछट में नदियों द्वारा बहाकर लाई गयी मिट्टी जमा होती रही । इस प्रकार टेथिस सागर में विभिन्न कारणों से तलछट पर दबाव पड़ने से इसमें वलय या मोड़ पड़े जिसके परिणामस्वरूप हिमालय पर्वतमाला की उत्पत्ति हुई । इसलिए हिमालय में मोड़दार आकार देखने को मिलते है ।

प्रश्न 3.
पूर्वी भारत में रेलमार्ग और सड़क मार्ग का विकास नहीं हुआ हैं ।
उत्तर:
पूर्वी भारत में स्थित पर्वत श्रेणियाँ कम ऊँचाईवाली है ।

  • इस पहाड़ी विस्तार में वर्षा का प्रमाण बहुत है, जिसके कारण यहाँ अत्यंत घने जंगल है ।
  • जंगलों का प्रदेश होने से यहाँ सड़क मार्ग एवं रेलमार्ग का विकास एकदम कम हुआ है ।

प्रश्न 4.
भारत के भूपृष्ठ में विविधता देखने को मिलती है ।
उत्तर:
भारत के प्रत्येक भाग की अपनी विशिष्ट लाक्षणिकता हैं और फिर भी सभी विभाग एकदूसरे से जुड़े है ।

  • देश की समृद्धि में इन सबका विशेष योगदान हैं । वे अन्य संसाधनों के लिए उपयोगी हैं ।
  • उत्तर के उपजाऊ काँप के मैदान को अनाज का भंडार कहा जाता है ।
  • दक्षिण भारत का पठारी प्रदेश विविध खनिज संसाधनों से समृद्ध हैं, जिससे देश के औद्योगिक विकास को गति मिलती हैं ।
  • उत्तर का पर्वतीय प्रदेश विपुल जलराशिवाली नदियों का उद्गम स्थान हैं, साथ ही साथ वनसंसाधन की विविधता के लिए मशहूर

प्रश्न 5.
काली मिट्टी को कपास की मिट्टी कहते हैं ।
उत्तर:
काली मिट्टी लावा से बनी है । यह मिट्टी चिकनी और संचित नमीवाली हैं ।

  • यह लम्बे समय तक नमी धारण करने की क्षमता रखती हैं ।
  • यह मिट्टी कपास की फसल के लिए अधिक अनुकूल है, इसलिए इसे कपास की मिट्टी कहते हैं ।

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर एक-दो वाक्यों में दीजिए:

प्रश्न 1.
बृहद हिमालय के मुख्य दरें कौन से है ?
उत्तर:
बृहद हिमालय में जेलाप ला, नाथु ला, शिप्की ला आदि ऊँचे दरें है ।

प्रश्न 2.
लघु हिमालय में कौन-सी पर्वत श्रेणियाँ आयी हुई है ?
उत्तर:
लघु हिमालय में पीर पंजाल, महाभारत, नागटिब्बा आदि श्रेणियाँ हैं ।

प्रश्न 3.
लघु हिमालय में मुख्य गिरिकेन्द्र कौन-कौन से है ?
उत्तर:
डलहौजी, धर्मशाला, शिमला, मसूरी, रानीखेत, अल्मोड़ा, नैनीताल, दार्जिलिंग आदि गिरिकेन्द्र है ।

प्रश्न 4.
लघु हिमालय पर कौन-कौन से प्रसिद्ध तीर्थस्थल है ?
उत्तर:
गंगोत्री, यमनोत्री, बद्रीनाथ, केदारनाथ, हेमकुण्ड साहिब आदि प्रसिद्ध तीर्थस्थल लघु हिमालय पर है ।

प्रश्न 5.
पूर्वी हिमालय की मुख्य पर्वतश्रेणियों के नाम लिखिए ।
उत्तर:
पूर्वी भारत में पतकोई अरुणाचल में, नागा नागालैण्ड में, लुसाई मिजोरम में, मेघालय में गारों, खाँसी तथा जैयतिया मुख्य पर्वत श्रेणी है ।

प्रश्न 6.
उत्तर के मैदानी प्रदेश की रचना किससे हुई है ?
उत्तर:
उत्तर के मैदानी प्रदेश की रचना हिमालय से निकलनेवाली सतलुज, गंगा, ब्रह्मपुत्र और उनकी सहायक नदियों द्वारा लाई गई काँप मिट्टी से हुई हैं ।

प्रश्न 7.
दिल्ली को गंगा का प्रवेशद्वार क्यों कहते हैं ?
उत्तर:
दिल्ली के पश्चिम में सतलुज तथा पूर्व में गंगा का मैदान है इसलिए दिल्ली को गंगा के मैदान का प्रवेशद्वार कहते हैं ।

GSEB Class 9 Social Science Important Questions Chapter 14 भारत: स्थान, भूस्तरीय रचना और भूपृष्ठ – II

प्रश्न 8.
उत्तर के मैदान के मुख्य शहरों के नाम लिखिए ।
उत्तर:
दिल्ली, कानपुर, लखनऊ, इलाहाबाद, वाराणसी, पटना, कोलकाता आदि महत्त्वपूर्ण शहर इस मैदान में स्थित है ।

प्रश्न 9.
सिंधु की कौन-सी सहायक नदियाँ हिमालय से निकलती है ?
उत्तर:
झेलम, चिनाब, राबी, ब्यास तथा सतलुज सिंधु की सहायक नदियाँ हिमालय से निकलती है ।

प्रश्न 10.
भू-पृष्ठ की दृष्टि से मैदान को किन चार भागों में बाँटा गया है ?
उत्तर:

  1. भाबर
  2. तराई
  3. बांगर
  4. खदर

प्रश्न 11.
प्रायद्विपीय पठार के उत्तर-पूर्व में कौन-सी नदियाँ है ?
उत्तर:
चंबल, सोन, केन, बेतवा आदि ।

प्रश्न 12.
मध्यवर्ती पठारी भाग से कौन-सी नदियाँ बहती है ?
उत्तर:
विंध्याचल से चंबल, बेतवा निकलकर यमुना नदी में तथा सोन नदी उत्तर की ओर बहकर गंगा नदी में मिल जाती हैं ।

प्रश्न 13.
दक्षिण (दक्कन) का पठारी प्रदेश कहाँ पर है ?
उत्तर:
मालवा के पठारी प्रदेश के दक्षिण में स्थित सतपुड़ा, महादेव तथा मैकल पहाड़ियों के दक्षिण में दक्कन का पठारी प्रदेश है ।

प्रश्न 14.
पश्चिमी तट के मुख्य बन्दरगाहों के नाम लिखिए ।
उत्तर:
मुम्बई, मार्मगोवा आदि मुख्य प्राकृतिक बन्दरगाह है ।

प्रश्न 15.
आग्नेय चट्टान का निर्माण किस प्रकार होता है ?
उत्तर:
आग्नेय चट्टानों का निर्माण भूगर्भ में रही प्रचंड गर्मी से होता है । भूगर्भ का मेग्मा ठंडा होकर चट्टान का रूप धारण करता है ।

प्रश्न 16.
अग्निकृत चट्टाने किसे कहते हैं ?
उत्तर:
आग्नेय चट्टानें गर्मी के प्रभाव से निर्मित होती है, इसलिए इन्हें अग्निकृत चट्टाने कहते हैं ।

प्रश्न 17.
परतदार चट्टानें कैसे बनती है ?
उत्तर:
पानी और अन्य बलों के संयुक्त प्रभाव से आग्नेय चट्टाने टूटती है । चट्टानें के टुकड़े जब जल द्वारा निक्षेपित होते हैं तब परत बनती

प्रश्न 18.
परतदार चट्टानों में कौन-कौन सी मुख्य खनिज पायी जाती है ?
उत्तर:
परतदार चट्टानों में जिप्सम, चूना पत्थर और कोयला मुख्य खनिजें पायी जाती है ।

प्रश्न 19.
रूपांतरित चट्टानें किसे कहते हैं ?
उत्तर:
उच्च तापमान और चट्टानों के स्तरों के अधिक दबाव से मूल चट्टानों का स्वरूप, संरचना और गुणधर्म रूपांतरित होकर एकदम नयी चट्टानें बनती है, जिन्हें रूपांतरित चट्टानें कहते हैं ।

प्रश्न 20.
सामान्य उपयोग की खनिजें कौन-कौन सी है ?
उत्तर:
लोहा, ताँबा, सीसा, एल्युमिनियम, कलई, निकल आदि सामान्य उपयोग की खनिजें है ।

GSEB Class 9 Social Science Important Questions Chapter 14 भारत: स्थान, भूस्तरीय रचना और भूपृष्ठ – II

प्रश्न 21.
लोहा भारत के किन किन राज्यों में पाया जाता है ?
उत्तर:
लोहा झारखण्ड, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश, गोवा, उड़ीसा, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, राजस्थान, कर्णाटक, बिहार, मध्य प्रदेश आदि राज्यों में पाया जाता है ।

प्रश्न 22.
मिट्टी किसे कहते हैं ?
उत्तर:
जैविक और अजैविक द्रव्यों से निर्मित पृथ्वी की पपड़ी के ऊपरी पतले स्तर को ‘मिट्टी’ कहते हैं ।

प्रश्न 23.
भारत में पायी जानेवाली मिट्टी के प्रकार बताईए ।
उत्तर:
भारत में 6 प्रकार की मिट्टी पायी जाती है :

  1. काँप मिट्टी
  2. काली मिट्टी
  3. लाल मिट्टी
  4. लेटेराइट मिट्टी
  5. पर्वतीय मिट्टी
  6. मरुस्थलीय मिट्टी ।

प्रश्न 24.
बाँगर मिट्टी किसे कहते हैं ?
उत्तर:
पुरानी काँप की मिट्टी जहाँ नदियों के बाढ़ का काँप ऊँचाई के कारण नहीं पहुंच पाता है, इस प्रकार की मिट्टी को बाँगर कहते हैं ।

प्रश्न 25.
काँप मिट्टी मुख्यतः किन क्षेत्रों में पायी जाती है ?
उत्तर:
काँप मिट्टी मुख्यतः नदि किनारे के क्षेत्रों, पंजाब, उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल आदि राज्यों में पायी जाती है ।

प्रश्न 26.
काली मिट्टी किन-किन राज्यों में पायी जाती है ?
उत्तर:
काली मिट्टी मुख्यतः महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, गुजरात, कर्णाटक, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और तमिलनाडू में पायी जाती है ।

प्रश्न 27.
लाल मिट्टी मुख्यत: किन राज्यों में पायी जाती है ?
उत्तर:
लाल मिट्टी मुख्यत: गोवा, तमिलनाडू, कर्णाटक, आंध्र प्रदेश, उड़ीसा, झारखंड आदि राज्यों में पायी जाती है ।

प्रश्न 28.
लेटेराइट मिट्टी कहाँ पायी जाती है ?
उत्तर:
ऐसी मिट्टी ढक्कण के पठारी प्रदेशों, कर्णाटक, केरल, उड़ीसा और पूर्वोत्तर के कई भागों में पायी जाती है ।

प्रश्न 29.
पर्वतीय मिट्टी की विशेषताएँ लिखिए ।
उत्तर:
यह मिट्टी कम उर्वर, अपरिपक्व, रेतील, छिद्रालु और जैविक तत्त्वों की कमीवाली होती हैं ।

प्रश्न 30.
मरुस्थलीय मिट्टी किन प्रदेशों में पायी जाती है ? ।
उत्तर:
मुख्यत: राजस्थान, गुजरात, पंजाब और हरियाणा में पायी जाती है ।

प्रश्न 31.
पर्वतीय मिट्टी किन राज्यों में पायी जाती है ?
उत्तर:
पर्वतीय मिट्टी मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, पूर्वी पर्वत श्रेणीयाँ, उत्तराखण्ड, हिमाचल प्रदेश तथा जम्मू-कश्मीर राज्यों में पायी जाती ..

निम्नलिखित शब्दों की संकल्पना समझाइए:

1. भूपृष्ठ – पृथ्वी पर स्थित अनियमित और उर्ध्व आकारवाले भूमि भाग की विषमताओं को भूपृष्ठ कहते हैं, जिसमें पर्वत, पठार, मैदान आदि का समावेश होता है ।
2. ‘सागर माथा’ – नेपाल, चीन की सीमा पर स्थित विश्व की सबसे ऊँची पर्वत शिखर माउण्ट एवरेस्ट को तिब्बत में सागर माथा कहा जाता है ।
3. दून (DUN) – शिवालिक पर्वत श्रेणी में कुछ विशिष्ट घाटियों की रचना हुई है, जो कंकड़-पत्थर तथा मोटी कांपवाली मिट्टी की परत से ढ़की हुई है । स्थानीय भाषा में उन्हें दून कहते हैं । जैसे देहरादून, पाटलीदून, कोथरीदून आदि ।
4. पूर्वी घाट – दक्षिण के पठार की बहुत कम ऊँचाईवाली अलग-अलग पहाड़ियों की ऊँचाई 900 मीटर से अधिक है वे इस पठारी प्रदेश की सीमा बनाती है । जिसे पूर्वी घाट कहते हैं ।
5. भामर – सिंधु नदी से तिस्ता नदी तक शिवालिक की तलहती में नदी के प्रवाह के समान्तर कंकड-पत्थरों की पतली पट्टी देखने को मिलती है उसे भामर कहते हैं ।
6. खादर – नदियाँ हर वर्ष नया काँप लाकर बिछाती है यही बाढ़ के मैदानों का नया काँप खादर के नाम से जाना जाता है ।
7. बाढ़ के मैदान – जब नदियों में बाढ़ आती है, वह अपने साथ लाई गई काँप मिट्टी के बिछाव से मैदान का निर्माण करती है, उन्हें बाढ़ के मैदान कहते हैं ।
8. बुंदेलखंड – मध्यवर्ती पठारी भूमि के उत्तर-पूर्वी भाग को बुंदेलखंड के नाम से जाना जाता है ।
9. कगार – नदियों के मार्ग में एक दीवार के समान खड़े ढालवाली जो कटी-फटी टेकरियाँ होती है उसे कगार कहते हैं ।
10. एटोला – लक्षद्वीप समूह प्रवाल चट्टानों से बना है । जिसके द्वीपों का आकार घोड़े की नाल के समान है, ऐसे प्रवाल चट्टानों से बने द्वीपों को एटोला कहते हैं ।
11. आग्नेय चट्टाने – ये प्राथमिक चट्टाने है । पृथ्वी के भीतर के गर्म पदार्थों के ठण्डा होकर ठोस बन जाने से इन चट्टानों को आग्नेय चट्टाने कहते हैं ।
12. भूरखलन – पृथ्वी की आंतरिक या बाह्य शक्तियों के कारण ऊँचे भूमि स्वरूपों का टूटकर बिखर जाना भूस्खलन कहलाता है।
13. भू-पटल – पृथ्वी की वह ऊपरी परत जो कई प्रकार की चट्टानों, मिट्टियों तथा अन्य ठोस पदार्थों से मिलकर बनी है, भू पटल कहलाती है ।
14. पठार – आसपास की भूमि से ऊपर उठा हुआ भू-भाग जो ऊपर से उबड़खाबड़ पथरीला हो ऐसे भूमि स्वरूप समुद्र तल से सामान्यतः 100 मीटर से अधिक ऊँचे हो पठार कहलाते है ।
15. कायल – दक्षिण में केरल तट पर पश्चजल देखने को मिलते हैं, उसे स्थानिय भाषा में कायल कहते हैं।
16. मेग्मा – भूगर्भ गर्मी के प्रचंड प्रमाण को मेग्मा कहते हैं ।
17. दो-आब – दो नदियों के बीच की भूमि को दो-आब कहते हैं ।
18. पंजाब – पाँच नदियों से निर्मित मैदान को पंजाब (पंज + आब) कहते हैं ।

नीचे दिए गए प्रश्नों के उचित विकल्प चुनकर उत्तर पूर्ण कीजिए:

प्रश्न 1.
उत्तर के पर्वतीय प्रदेश की लम्बाई कितनी है ?
(A) 2000 km
(B) 2100 km
(C) 2400 km
(D) 3200 km
उत्तर:
(B) 2100 km

प्रश्न 2.
मिट्टी की परिपक्वता कौन निश्चित करता है ?
(A) जैविक तत्त्व
(B) खनिज तत्त्व
(C) पानी बृहद
(D) समयान्तर
उत्तर:
(D) समयान्तर

GSEB Class 9 Social Science Important Questions Chapter 14 भारत: स्थान, भूस्तरीय रचना और भूपृष्ठ – II

प्रश्न 3.
हिमालय में 7000 मीटर से ऊँची कितने शिखर है ?
(A) 25
(B) 35
(C) 20
(D) 40
उत्तर:
(D) 40

प्रश्न 4.
विश्व की सबसे ऊँची पर्वत शिखर कौन-सी है ?
(A) माउन्ट एवरेस्ट
(B) कंचनजंघा
(C) K2
(D) मकालू
उत्तर:
(A) माउन्ट एवरेस्ट

प्रश्न 5.
माउण्ट एवरेस्ट की ऊँचाई कितनी है ?
(A) 8611 m
(B) 8070 m
(C) 8848 m
(D) 8481 m
उत्तर:
(C) 8848 m

प्रश्न 6.
तिब्बत में किस पर्वत शिखर को सागर माथा कहते हैं ?
(A) K2
(B) कंचनजंगा।
(C) अन्नपूर्ण
(D) माउण्ट एवरेस्ट
उत्तर:
(D) माउण्ट एवरेस्ट

GSEB Class 9 Social Science Important Questions Chapter 14 भारत: स्थान, भूस्तरीय रचना और भूपृष्ठ – II

प्रश्न 7.
भारत की सबसे ऊँची पर्वत शिखर कौन-सी है ?
(A) K2
(B) कंचनजंगा
(C) मकालू
(D) धौलागिरि
उत्तर:
(A) K2

प्रश्न 8.
K2 की ऊँचाई कितनी है?
(A) 8611 m
(B) 8598 m
(C) 8481 m
(D) 8198 m
उत्तर:
(A) 8611 m

प्रश्न 9.
हिमालय पर मान सरोवर किस देश में आया हुआ है ?
(A) भारत
(B) चीन
(C) नेपाल
(D) तिब्बत
उत्तर:
(B) चीन

प्रश्न 10.
इनमें से कौन-सा बृहद हिमालय का दर्रा है ?
(A) जेलाप ला
(B) नाथु ला
(C) शिप्कीला
(D) ये तीनों ही
उत्तर:
(D) ये तीनों ही

प्रश्न 11.
लघु हिमालय की चौड़ाई कितनी है ?
(A) 100 से 200 कि.मी.
(B) 80 से 100 कि.मी.
(C) 100 से 120 कि.मी.
(D) 100 से 150 कि.मी.
उत्तर:
(B) 80 से 100 कि.मी.

प्रश्न 12.
कौन-से रमणीय प्राकृतिक घाटी लघु हिमालय में स्थित है ?
(A) कुलू
(B) कांगडा
(C) कश्मीर
(D) ये तीनों ही
उत्तर:
(D) ये तीनों ही

प्रश्न 13.
शिवालिक श्रेणी की औसत ऊँचाई कितनी है ?
(A) 500 m
(B) 1000 m
(C) 150 m
(D) 1150 m
उत्तर:
(B) 1000 m

प्रश्न 14.
कौन-सी घाटी शिवालिक श्रेणी पर है ?
(A) देहरादून
(B) पाटलीदून
(C) कोथरीदून
(D) ये तीनों ही
उत्तर:
(D) ये तीनों ही

प्रश्न 15.
कौन-सा जोड़ा असत्य है ?
(A) अरूणाचल – पतकोई
(B) नागालैण्ड – नागा
(C) लुसाई – मिजोरम
(D) गारो – असम
उत्तर:
(D) गारो – असम

GSEB Class 9 Social Science Important Questions Chapter 14 भारत: स्थान, भूस्तरीय रचना और भूपृष्ठ – II

प्रश्न 16.
कौन-सी पर्वतश्रेणी मेघालय की नहीं है ?
(A) लुसाई
(B) गारो
(C) खासी
(D) अँतिया
उत्तर:
(A) लुसाई

प्रश्न 17.
इनमें से कौन-सी पर्वतश्रेणी म्यानमार की है ?
(A) जयतिया
(B) पतकोई
(C) अराकानयोमा
(D) लुसाई
उत्तर:
(C) अराकानयोमा

प्रश्न 18.
उत्तर का मैदान कितनी मोटी काँप मिट्टी की परत से बना है ?
(A) 10 मीटर
(B) 25 मीटर
(C) 50 मीटर
(D) 70 मीटर
उत्तर:
(C) 50 मीटर

प्रश्न 19.
उत्तर का मैदानी प्रदेश लगभग ……………….. कि.मी. लम्बा है ।
(A) 2000
(B) 2400
(C) 1200
(D) 3200
उत्तर:
(B) 2400

प्रश्न 20.
उत्तर के मैदान की समुद्रतल से अधिकतम ऊँचाई कितनी है ?
(A) 240 मीटर
(B) 180 मीटर
(C) 200 मीटर
(D) 150 मीटर
उत्तर:
(B) 180 मीटर

प्रश्न 21.
…………………. गंगा के मैदान का प्रवेशद्वार कहलाता है ।
(A) हरिद्वार
(B) दिल्ली
(C) लखनऊ
(D) मथुरा
उत्तर:
(B) दिल्ली

प्रश्न 22.
लगातार कांप के अभाव के कारण सौपान आकार के मैदान को क्या कहते हैं ?
(A) खादर
(B) बांगर
(C) तराई
(D) भाबर
उत्तर:
(A) खादर

प्रश्न 23.
भारत का सबसे प्राचीन भाग कौन-सा है ?
(A) हिमालय पर्वतमाला
(B) उत्तर का विशाल मैदान
(C) प्रायद्विपीय पठार
(D) तटीय मैदान
उत्तर:
(C) प्रायद्विपीय पठार

प्रश्न 24.
निम्न में से कौन-सा विधान सत्य है ?
(A) प्रायद्विपीय पठार भारत का सबसे प्राचीन भाग है ।
(B) इस प्रदेश का आकार उल्टे त्रिभुज जैसा है ।
(C) इसके उत्तरी भाग का ढाल उत्तर-पूर्वी की और है ।
(D) ये तीनों ही विधान सत्य हैं ।
उत्तर:
(D) ये तीनों ही विधान सत्य हैं ।

प्रश्न 25.
…………. विश्व के सबसे प्राचीन पर्वतश्रेणी में से एक है ।
(A) हिमालय
(B) सतपुडा
(C) अरावली
(D) नीलगिरि
उत्तर:
(C) अरावली

प्रश्न 26.
माउण्ट आबू की सबसे ऊँची शिखर कौन-सी है ?
(A) दोदाबेटा
(B) बुंदेलखण्ड
(C) कार्डेमम
(D) गुरु शिखर
उत्तर:
(D) गुरु शिखर

प्रश्न 27.
गुरु शिखर की ऊँचाई कितनी है ?
(A) 1722 मीटर
(B) 2217 मीटर
(C) 2127 मीटर
(D) 7122 मीटर
उत्तर:
(A) 1722 मीटर

प्रश्न 28.
मध्यवर्ती पठारी भाग के उत्तरी पूर्वी भाग को क्या कहते हैं ?
(A) बुंदेलखण्ड
(B) विंध्याचल
(C) सह्याद्री
(D) नीलगिरि
उत्तर:
(A) बुंदेलखण्ड

प्रश्न 29.
पठारी प्रदेश का उत्तरी-पश्चिमी भाग …………….. से बना है ।
(A) लावा
(B) कांप
(C) पर्वत
(D) इनमें से कोई नहीं
उत्तर:
(A) लावा

प्रश्न 30.
दक्षिण के पठारी भाग को तमिलनाडू में क्या कहते हैं ?
(A) सह्याद्री
(B) नीलगिरि
(C) सतपुड़ा
(D) छोटा
उत्तर:
(B) नीलगिरि

GSEB Class 9 Social Science Important Questions Chapter 14 भारत: स्थान, भूस्तरीय रचना और भूपृष्ठ – II

प्रश्न 31.
नागपुर गोवा के दक्षिण में तटीय मैदान को क्या कहते हैं ?
(A) कांकण
(B) मलबार
(C) कारोमण्डल
(D) गोवा तट
उत्तर:
(B) मलबार

प्रश्न 32.
किस राज्य में पश्चजल (Back water) देखने को मिलते है
(A) गुजरात
(B) केरल
(C) राजस्थान
(D) बिहार
उत्तर:
(B) केरल

प्रश्न 33.
आंध्र प्रदेश और तमिलनाडू के तटीय भाग को किस नाम से जाना जाता है ?
(A) उत्तरी सिरकार तट
(B) क़ारोमण्डल तट
(C) कोंकण तट
(D) मलबार तट
उत्तर:
(B) क़ारोमण्डल तट

प्रश्न 34.
अंदमान-निकोबार का कुल कितना क्षेत्रफल है ?
(A) 200 km2
(B) 350 km2
(C) 250 km2
(D) 150 km2
उत्तर:
(B) 350 km2

प्रश्न 35.
अंदमान निकोबार में एकमात्र भारत का सक्रिय ज्वालामुखी …………. है ।
(A) अंदमान
(B) बेरल
(C) नारकोंडम
(D) निकोबार
उत्तर:
(C) नारकोंडम

प्रश्न 36.
सबसे अधिक कठोर चट्टाने कौन-सी होती है ?
(A) परतदार
(B) रूपांतरित
(C) आग्नेय
(D) नवनिर्मित
उत्तर:
(C) आग्नेय

प्रश्न 37.
राजस्थान में प्राप्त होनेवाला संगमरमर किन चट्टानों का उदाहरण है ?
(A) आग्नेय
(B) रूपांतरित
(C) परतदार
(D) अवसादी
उत्तर:
(B) रूपांतरित

प्रश्न 38.
हम अपने दैनिक जीवन में कितने प्रकार के खनिजों का उपयोग करते हैं ?
(A) 50
(B) 100
(C) 150
(D) 200
उत्तर:
(D) 200

प्रश्न 39.
इनमें से कौन-सी खनिज कीमती खनिज की श्रेणी में नहीं है ?
(A) सोना
(B) चाँदी
(C) प्लेटिनम
(D) सीसा
उत्तर:
(D) सीसा

प्रश्न 40.
इनमें से कौन-सी मिश्र खनिज नहीं है ?
(A) कलई
(B) टंगस्टन
(C) वेनेडियम
(D) क्रोमियम
उत्तर:
(A) कलई

प्रश्न 41.
राजस्थान में सबसे अधिक पायी जानेवाली खनिज कौन-सी है ?
(A) लोहा
(B) मैग्निज
(C) तांबा
(D) अभ्रक
उत्तर:
(D) अभ्रक

प्रश्न 42.
सबसे अधिक उपजाऊ मिट्टी कौन-सी है ?
(A) काँप
(B) काली
(C) लाल
(D) लेटेराईट
उत्तर:
(A) काँप

प्रश्न 43.
किस मिट्टी को रेगूर मिट्टी कहते हैं ?
(A) काली
(B) लाल
(C) पर्वतीय
(D) काँप
उत्तर:
(A) काली

प्रश्न 44.
कौन-सी मिट्टी कपास के फसल के लिए सबसे अधिक अनुकूल है ?
(A) लाल
(B) काँप
(C) मरूस्थलीय
(D) काली
उत्तर:
(B) काँप

प्रश्न 45.
किस मिट्टी में सबसे अधिक लोह तत्त्व पाया जाता है ?
(A) काली
(B) लाल
(C) पर्वतीय
(D) रेतीली
उत्तर:
(B) लाल

GSEB Class 9 Social Science Important Questions Chapter 14 भारत: स्थान, भूस्तरीय रचना और भूपृष्ठ – II

प्रश्न 46.
वर्षा के कारण तीव्र कटाव से कौन-सी मिट्टी बनती है ?
(A) काली
(B) लेटेराइट
(C) पर्वतीय
(D) रेतीली
उत्तर:
(B) लेटेराइट

प्रश्न 47.
किस मिट्टी में सबसे अधिक क्षारकण होते है ?
(A) रेतीली
(B) काली
(C) पर्वतीय
(D) लाल
उत्तर:
(A) रेतीली

उचित शब्दों द्वारा रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए:

1. उत्तर के पर्वतीय क्षेत्र की चौड़ाई ………………… km से ………………… km के बीच है ।
उत्तर:
(240, 320)

2. हिमालय अनेक प्रकार की ………………… का समूह है ।
उत्तर:
(पर्वत श्रेणियों)

3. उत्तर का पर्वत ……………. की पामीर की गाँठ के नाम से पहचान जानेवाली मुख्य पर्वतश्रेणी का ही एक भाग है ।
उत्तर:
(मध्य एशिया)

4. हिमालय पर्वत श्रेणी में एक-दूसरे के समांतर ……………….. गिरिमालाएँ है ।
उत्तर:
(3)

5. शिवालिका पर्वत श्रेणी की चौड़ाई …………… कि.मी. है ।
उत्तर:
(10 से 15)

6. उत्तरी पर्वतीय प्रदेश और दक्षिण के पठार के बीच ……………… स्थित है ।
उत्तर:
(उत्तर का विशाल मैदान)

7. उत्तर का मैदान …………… के पास संकरा हैं ।
उत्तर:
(दिल्ली)

GSEB Class 9 Social Science Important Questions Chapter 14 भारत: स्थान, भूस्तरीय रचना और भूपृष्ठ – II

8. सिंधु नदी …………. में मिलती है ।
उत्तर:
(अरब सागर)

9. प्रायद्विपीय पठार का दक्षिणी भाग का ढाल …………… की ओर है ।
उत्तर:
(दक्षिण-पूर्व)

10. मालवा के पठार के उत्तरी-पश्चिमी भाग में ……….. श्रेणी स्थित है ।
उत्तर:
(अरावली)

11. माउण्ट आबू ……………………………. पर्वतश्रेणी का गिरिकेन्द्र है ।
उत्तर:
(अरावली)

12. अरावली से ……………. और ……………… नदियाँ निकलती है ।
उत्तर:
(लूणी, बनास)

13. साबरमती और माही नदियाँ ………….. की खाड़ी में मिलती हैं ।
उत्तर:
(खंभात)

14. राजमहल की पहाड़ियाँ ……………. का ही एक भाग है ।
उत्तर:
(छोटा नागपुर)

15. राँची का पठारी प्रदेश ………….. का ही एक भाग है ।
उत्तर:
(छोटा नागपुर के पठार)

16. पश्चिम घाट को महाराष्ट्र और कर्णाटक में ……………….. कहते हैं ।
उत्तर:
(सह्याद्री)

17. सामान्यतः दक्षिण के पठार की ऊँचाई …………… से ……………. मीटर है ।
उत्तर:
(900, 1100)

18. दक्कन के पठार की अधिकांश नदियाँ …………………. में गिरती है ।
उत्तर:
(बंगाल की खाड़ी)

19. पश्चिमी तटीय मैदान गुजरात से ………….. तक फैला हुआ है ।
उत्तर:
(केरल)

20. पूर्वी तटीय मैदान के उत्तरी भाग को ………….. के नाम से जाना जाता है ।
उत्तर:
(उत्तरी सिरकार तट)

21. लक्षद्वीप का आकार …………….. के समान है ।
उत्तर:
(घोड़े की नाल)

22. ……………….. बंगाल की खाड़ी में स्थित टापू हैं ।
उत्तर:
(अंदमान-निकोबार)

23. अंदमान-निकोबार में ………………… सुषुप्त ज्वालामुखी है ।
उत्तर:
(नारकोंडम)

24. ग्रेनाईट ……………….. प्रकार की चट्टानों का दृष्टांत है ।
उत्तर:
(अंतस्थ)

25. स्लेट, संगमरमर, हीरा आदि ………… चट्टाने में से मिलते है ।
उत्तर:
(रूपांतरित)

26. सीसा सबसे अधिक …………….. में पाया जाता है ।
उत्तर:
(राजस्थान)

27. बॉक्साईट ……………… धातुमय खनिज की श्रेणी में आती हैं ।
उत्तर:
(हलकी)

28. नदियों के निक्षेपण से तैयार होनेवाली मिट्टी को ………….. कहते हैं ।
उत्तर:
(काँप मिट्टी)

GSEB Class 9 Social Science Important Questions Chapter 14 भारत: स्थान, भूस्तरीय रचना और भूपृष्ठ – II

29. काली मिट्टी ……………….. चट्टानों द्वारा तैयार होती हैं ।
उत्तर:
(रूपांतरित)

30. लाल मिट्टी छिद्रालू और ……………… होती है ।
उत्तर:
(उपजाऊ)

31. लेटेराइट मिट्टी में ………………….. और …………….. तत्त्व होते हैं ।
उत्तर:
(लोह, एल्युमिनियम)

32. ……………. मिट्टी शुष्क और अर्धशुष्क क्षेत्रों में पायी जाती है ।
उत्तर:
(मरुस्थलीय)

33. ………………… की सुविधा से मरुस्थलीय मिट्टी में खेती हो सकती है ।
उत्तर:
(सिंचाई)

34. पर्वतीय मिट्टी में ……………. की कमी होती है ।
उत्तर:
(जैविक तत्त्वों)

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *