GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स

Gujarat Board GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स Textbook Exercise Important Questions and Answers, Notes Pdf.

Gujarat Board Textbook Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दीजिए :

प्रश्न 1.
सुनीता ने अंतरिक्ष में कितने प्रकार के रिकॉर्ड बनाए?
उत्तर :
सुनीता ने अप्रैल, 2007 में अंतरिक्ष के बोस्टन मैराथन में भाग लिया था। इसमें 4 घंटे 24 मिनट में 42 किमी का सफर तय करके वह प्रथम स्थान पर रही थी। सुनीता से पहले शैनोन ल्यूसिक नामक अंतरिक्षयात्री 188 दिन और 4 घंटे अंतरिक्ष में रहा था। सुनीता ने अंतरिक्ष में उससे 6 दिन 14 घंटे अधिक समय तक रहकर ल्यूसिक का रिकॉर्ड तोड़ा। इसी प्रकार 29 घंटे 17 मिनट तक स्पेसवॉक करके उसने एक नया रिकॉर्ड बनाया। इस तरह सुनीता ने अंतरिक्ष में अनेक प्रकार के रिकॉर्ड बनाए।

GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स

प्रश्न 2.
सुनीता विलियम्स के लिए हमें किस बात का गर्व है?
उत्तर :
सुनीता भारतीय नागरिक नहीं है, परंतु उसका मूल गुजरात से जुड़ा है। उनके पिता दीपकभाई पंड्या जन्म से गुजराती हैं। उन्होंने अपना आधा जीवन गुजरात में बिताया था। यहाँ वे एक सफल डॉक्टर के रूप में रहे। 1960 में वे हमेशा के लिए अमरीका चले गए। वहाँ उन्होंने युगोस्लाविया की उर्सबाईन बोनी नामक युवती से शादी की। उनकी तीन संतानों में सुनीता सबसे छोटी है। इस प्रकार गुजराती मूल होने के कारण सुनीता भारतीय है। इस तरह सुनीता के भारतीय होने पर हमें गर्व है।

प्रश्न 3.
सुनीता ने अपने सपने कैसे साकार किए? ।
उत्तर :
अंतरिक्ष में जाने की सुनीता की तीव्र इच्छा थी। इसलिए पायलट बनने के बाद वे नासा जाने में सफल हुईं। वहाँ उन्हें कड़ा प्रशिक्षण दिया गया। अंतरिक्ष कार्यक्रम तथा अंतरिक्ष यान आदि के बारे में जानकारी पाने के लिए उन्हें रूस में रहना पड़ा। पूरी तैयारी के लिए वे नौ दिन पानी में भी रहीं। उनका पूरा प्रशिक्षण आठ साल में खत्म हुआ। इसके बाद वे डिस्कवरी मिशन में शामिल हुईं और 10 दिसंबर, 2007 को अटलांटिस अंतरिक्ष यान से स्पेस स्टेशन पहुंचीं। इस प्रकार सुनीता ने अपने सपने साकार किए।

GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स

प्रश्न 4.
महिलाएँ विभिन्न क्षेत्रों में देश का नाम रोशन कर सकती हैं। इसके बारे में आपका क्या मत है?
उत्तर :
बुद्धि, प्रतिभा और योग्यता पर केवल पुरुषों का ही अधिकार नहीं है। महिलाएँ भी प्रत्येक क्षेत्र में अपना नाम उजागर कर सकती हैं। आज वे ऊँचे-सेऊँचे पदों पर आसीन हैं। श्रीमती प्रतिभा पाटिल ने भारत के राष्ट्रपति पद का गौरव बढ़ाया है। इसके पहले श्रीमती इंदिरा गाँधी भारत के प्रधानमंत्री के रूप में नाम कमा चुकी हैं। संगीत के क्षेत्र में लता मंगेशकर और आशा भोंसले आज भी सारे विश्व में लोकप्रिय हैं। मेरा मत है कि पुरुषों की तरह महिलाएँ भी प्रत्येक क्षेत्र में भारत का नाम रोशन कर सकती हैं।

प्रश्न 5.
आप बड़े होकर क्या बनना चाहते हैं? क्यों?
उत्तर :
मैं बड़ा होकर डॉक्टर बनना चाहता हूँ।
आज हमारे देश में बीमारियाँ बढ़ रही हैं और योग्य डॉक्टरों की कमी हैं। जो डॉक्टर योग्य हैं, उनकी फीस सुनकर बीमारी और बढ़ जाती है। गाँवों के गरीब मरीजों को अपने मकान और जमीन बेचकर शहर के अस्पताल में अपना इलाज कराना पड़ता है। मैं एक कुशल और योग्य डॉक्टर बनकर उचित फीस में ऐसे मरीजों का इलाज करना चाहता हूँ। डॉक्टर के पेशे में कमाई के साथ लोगों की सेवा का अवसर भी मिलता है। इसीलिए मैं डॉक्टर बनना चाहता हूँ।

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दो-दो वाक्यों में दीजिए :

प्रश्न 1.
हमें नारी का सम्मान क्यों करना चाहिए?
उत्तर :
आज महिलाएँ हरेक क्षेत्र में आगे हैं। उनमें ऊँचे-ऊँचे पदों पर आसीन होने की योग्यता है, इसलिए हमें नारी का सम्मान करना चाहिए।

प्रश्न 2.
सुनीता पंड्या सुनीता विलियम्स कैसे बनीं?
उत्तर :
माइकल विलियम्स सुनीता पंड्या के खास मित्र और सहपाठी थे। सुनीता उनसे शादी करने के कारण सुनीता पंड्या से सुनीता विलियम्स बनीं।

GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स

प्रश्न 3.
कल्पना चावला हमारी कल्पना बनकर कैसे रह गईं?
उत्तर :
कल्पना चावला अंतरिक्ष अभियान पूरा करने के बाद लौटते समय एक दुर्घटना में चल बसीं। इस तरह वे हमारी कल्पना बनकर रह गईं।

प्रश्न 4.
अंतरिक्षयात्रा में किस प्रकार की मुश्किलें आती हैं?
उत्तर :
अंतरिक्ष स्पेस स्टेशन में रहना आसान नहीं है। वहाँ खाने से लेकर नहाने तक की सभी क्रियाओं में मुश्किलें हैं।

प्रश्न 5.
सुनीता को ‘पूरे विश्व की बेटी’ क्यों कहा गया है?
उत्तर :
पृथ्वी भले अनेक देशों में बँटी हो, लेकिन अंतरिक्ष सारे विश्व का है। इसलिए अंतरिक्षयात्री सुनीता को ‘पूरे विश्व की बेटी’ कहा गया है।

प्रश्न 6.
अंतरिक्ष से लौटने पर यात्री क्या अनुभव करता है?
उत्तर :
अंतरिक्ष से वापस लौटने पर यात्री को चलने-फिरने में दिक्कत होती है। उसकी हड्डियाँ कमजोर हो जाती हैं और मानसिक रूप से स्वस्थ होने में उसको समय लगता है।

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर एक-एक वाक्य में दीजिए :

प्रश्न 1.
सुनीता कितना समय अंतरिक्ष में रहकर लौटीं?
उत्तर :
सुनीता 194 दिन 18 घंटे और 58 मिनट अंतरिक्ष में रहकर लौटीं।

प्रश्न 2.
अहमदाबाद हवाई अड्डे पर उत्तेजना क्यों थी?
उत्तर :
अहमदाबाद हवाई अड्डे पर उत्तेजना थी, क्योंकि अंतरिक्षयात्री सुनीता विलियम्स हवाई जहाज से वहाँ पहुँची थीं।

GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स

प्रश्न 3.
अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स के अलावा हमारे देश के अंतरिक्षयात्री कौन-कौन हैं?
उत्तर :
अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स के अलावा हमारे देश के अंतरिक्षयात्री हैं – राकेश शर्मा और कल्पना चावला।

प्रश्न 4.
सुनीता विलियम्स का जन्म कब और कहाँ हुआ था?
उत्तर :
सुनीता विलियम्स का जन्म 19 दिसंबर, 1965 को अमरीका के ओह्यो नगर में हुआ था।

प्रश्न 5.
सुनीता बचपन से किन-किन खेलों में भाग लेती थी?
उत्तर :
सुनीता बचपन से दौड़, तैराकी, घुड़दौड़, बाइकिंग, स्नोबोडिंग और धनुर्विद्या जैसे साहसभरे खेलों में भाग लेती थी।

प्रश्न 6.
सुनीता नासा में क्यों गईं?
उत्तर :
सुनीता नासा में गईं, क्योंकि अंतरिक्ष में जाने की उनकी इच्छा वहाँ प्रशिक्षण लेने पर ही पूरी हो सकती थी।

GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स

प्रश्न 7.
कल्पना चावला कौन थीं?
उत्तर :
कल्पना चावला भारतीयमूल की पहली महिला अंतरिक्षयात्री थीं।

प्रश्न 8.
सुनीता का गोताखोरी का अनुभव कहाँ काम आया?
उत्तर :
सुनीता का गोताखोरी का अनुभव स्पेसवॉक के प्रशिक्षण में काम आया।

प्रश्न 9.
सुनीता कब और किस यान से स्पेस स्टेशन पहुंची?
उत्तर :
सुनीता 10 दिसंबर, 2007 को ‘अटलांटिस’ नामक अंतरिक्ष यान से स्पेस स्टेशन पहुंची।

प्रश्न 10.
भारतीय नारियों को सुनीता से क्या सीख मिलती है?
उत्तर :
भारतीय नारियों को सुनीता से यह सीख मिलती है कि उच्च स्थानों पर पहुँचने के लिए उन्हें सुनीता की तरह साहसी और महत्त्वाकांक्षी बनना चाहिए।

सही वाक्यांश चुनकर पूरा वाक्य फिर से लिखिए :

(1) सुनीता में साहसिक वृत्तियाँ उभर सकीं, क्योंकि ……………..
(अ) उनके पिता दीपकभाई पंड्या न्यूरोसर्जन थे।
(ब) उनकी माँ भी एक साहसी महिला थी।
(क) उनका पालन-पोषण अमरीका के मुक्त वातावरण में हुआ था।
उत्तर :
सुनीता में साहसिक वृत्तियाँ उभर सकीं, क्योंकि उनका पालन-पोषण अमरीका के मुक्त वातावरण में हुआ था

(2) सुनीता शिक्षक की चहेती थी, क्योंकि ……………..
(अ) वह पढ़ाई के साथ साहसभरे खेलों में भी भाग लेती थी।
(ब) उसके डॉक्टर पिता ने शिक्षक का उपचार किया था।
(क) वह उसकी बेटी की प्यारी सहेली थी।
उत्तर :
सुनीता शिक्षक की चहेती थी, क्योंकि वह पढ़ाई के साथ साहसभरे खेलों में भी भाग लेती थी

GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स

(3) कल्पना चावला और सुनीता विलियम्स की रुचियाँ अलग थीं, लेकिन ……………..
(अ) दोनों अमरीका में रहना पसंद करती थीं।
(ब) भारतीय होना उन्हें एक सूत्र में पिरोता था।
(क) कपड़ों के बारे में उनकी पसंद एक-सी थी।
उत्तर :
कल्पना चावला और सुनीता विलियम्स की रुचियाँ अलग थीं, लेकिन भारतीय होना उन्हें एक सूत्र में पिरोता था

कोष्ठक में से उचित शब्द चुनकर रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए :

(उर्सबाईन, अटलांटिस, कालमाउथ, अंतरिक्षयात्री, मेहसाना, भारतीय)
उत्तर :
(1) राकेश शर्मा प्रथम भारतीय अंतरिक्षयात्री हैं।
(2) सुनीता का भारतीय होना हमारे लिए गर्व की बात है।
(3) झुलासन गाँव गुजरात के मेहसाना जिले में है।
(4) दीपकभाई पंड्या मैसाचुसेट्स के कालमाउथ में प्रसिद्ध न्यूरोसर्जन थे।
(5) सुनीता की माता का नाम उर्सबाईन था।
(6) स्पेसशटल अटलांटिस में सुनीता समेत सात अंतरिक्षयात्री थे।

निम्नलिखित प्रत्येक प्रश्न के उत्तर के लिए दिए गए विकल्पों में से सही विकल्प चुनिए :

(1) नील आर्मस्ट्रोंग …………….. का अंतरिक्षयात्री था।
A. अमरीका
B. रशिया
C. इंग्लैंड
D. फ्रांस
उत्तर :
A. अमरीका

(2) करनाल शहर किस प्रांत में है?
A. पंजाब में
B. उत्तर प्रदेश में
C. हरियाणा में
D. राजस्थान में
उत्तर :
C. हरियाणा में

(3) सुनीता विलियम्स के पिता ………………. थे।
A. इंजीनियर
B. डॉक्टर
C. प्रोफेसर
D. व्यापारी
उत्तर :
B. डॉक्टर

(4) सुनीता और कल्पना चावला दोनों को किससे बेहद लगाव था?
A. भारतीय फिल्मों से
B. भारतीय नृत्यों से
C. भारतीय भोजन से
D. भारतीय संगीत से
उत्तर :
D. भारतीय संगीत से

(5) अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष अड्डा पृथ्वी से कितनी दूरी पर स्थित है?
A. 360 किमी
B. 260 किमी
C. 405 किमी
D. 160 किमी
उत्तर :
A. 360 किमी

GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स

“कड़ी मेहनत, दृढ़ निश्चय और प्रतिभा के बल पर व्यक्ति अपनी मंजिल पा सकता है।” चर्चा कीजिए।
(शिशिर, शशांक और सोनम चर्चा करते हुए)
शिशिर : सोनम, तुम्हारे भाई दीपू ने तो सचमुच कमाल कर दिया। कल मैच में उसने दोहरा शतक बनाया। उसे खेलते देखना कितना अच्छा लग रहा था।
सोनम : उसे बचपन से ही क्रिकेट का बेहद शौक है। छोटा था तो घर के आँगन में माँ गेंदबाजी करती थी और दीपू भैया बल्लेबाजी करता था। स्कूल और कॉलेज में भी क्रिकेट ही उसका मुख्य शौक रहा।
शशांक : हाँ, अब उसका अभ्यास सचमुच रंग लाया है।
सोनम : राष्ट्रीय टीम के लिए भी उसे चुन लिया गया है।
शशांक : क्रिकेट ही नहीं, किसी भी क्षेत्र में सच्ची लगन से किया गया परिश्रम एक दिन अवश्य सफल होता है। बड़े-बड़े वैज्ञानिक, लेखक, संगीतकार, नेता, अभिनेता सब कड़ी मेहनत करके ही आगे आए हैं।
शिशिर : लेकिन भाग्य का भी तो साथ होना चाहिए।
सोनम : मैं तो मानती हूँ कि कड़ी मेहनत, दृढ़ निश्चय और प्रतिभा से ही भाग्य बनता है। जिसके पास ये तीनों हैं, वही भाग्यवान हैं और वही सफलता प्राप्त करता है।

निम्नलिखित पात्रों का परिचय दीजिए :

(1) इंदिरा गाँधी : ये स्वतंत्र भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की पुत्री थीं। इनकी माता का नाम कमलादेवी था। इंदिराजी का जन्म 19 नवबंर, 1917 को इलाहाबाद में हुआ था। इनकी शिक्षा इलाहाबाद और शांतिनिकेतन में हुई।

GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स 1

सन् 1942 में इनका विवाह फिरोज गाँधी से हुआ। ये लगभग 17 वर्ष तक भारत की प्रधानमंत्री रहीं। इनके समय में भारत एक शक्तिशाली देश के रूप में उभरा। 31 अक्तूबर, 1984 को इनके दो रक्षकों ने ही इनकी हत्या कर दी। इनकी मृत्यु के बाद इनके बड़े पुत्र राजीव गाँधी भारत के प्रधानमंत्री बने।

GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स

(2) सानिया मिर्जा : सानिया मिर्जा भारत की प्रसिद्ध टेनिस खिलाड़ी हैं। इनका जन्म 15 नवंबर, 1989 को मुंबई में हुआ था। ये हैदराबाद की रहनेवाली हैं। इन्होंने 6 वर्ष की उम्र से ही टेनिस खेलना शुरू कर दिया था। कोच सी. जी. के. भूपति ने इन्हें टेनिस का प्रशिक्षण दिया।
GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स 2
सन् 2005 में ये अमेरिकन ओपन के ग्रांड स्लेम के चौथे राउंड तक पहुँचने में सफल रहीं। इन्होंने दुबई और हैदराबाद की कई चैम्पियनशिप जीतीं। भारत सरकार ने इन्हें ‘अर्जुन पुरस्कार’ देकर सम्मानित किया है।

(3) किरण बेदी : किरण बेदी का जन्म 9 जून, 1949 में अमृतसर में मध्यमवर्ग के एक प्रगतिशील परिवार में हुआ। बचपन से ही उन्हें टेनिस के प्रति लगाव था। टेनिस की राष्ट्रीय स्पर्धाओं में उन्होंने अच्छा नाम कमाया।
GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स 3
सन् 1972 में उन्होंने IPS परीक्षा पास की। उच्चकोटि की पुलिस अफसर बननेवाली वे पहली भारतीय महिला हैं। दिल्ली की तिहाड़ जेल के ‘जेल अधीक्षक’ के पद पर रहकर उन्होंने काफी सुधारकार्य किए। अपने साहस, कर्तव्यनिष्ठा और कार्यकुशलता के लिए उन्हें कई पुरस्कार और मेडल मिले है।

GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स

(4) मल्लिका साराभाई : मल्लिका साराभाई भारत की प्रसिद्ध नृत्यांगना हैं। इनकी माता मृणालिनी भी उच्चकोटि की नर्तकी थीं। मल्लिका के पिता विक्रम साराभाई प्रसिद्ध अंतरिक्ष वैज्ञानिक थे।
GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स 4
मल्लिका का जन्म 1 मई, 1954 को अहमदाबाद में हुआ था। ये कुचिपुड़ी नृत्य और भरतनाट्यम में पारंगत हैं। ये समाजसुधार की प्रवृत्तियों में भी रुचि लेती हैं।

(5) कल्पना चावला. : भारत की प्रथम महिला अंतरिक्षयात्री कल्पना चावला का जन्म 1961 में करनाल शहर में हुआ था। दूर आकाश में उड़ान भरना उनके जीवन का स्वप्न था। उन्होंने दो बार अंतरिक्षयात्रा की। पहली बार 19 नवंबर, 1997 को और दूसरी बार 16 जनवरी, 2003 को।
GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स 5
दूसरी बार की सफल यात्रा के बाद 1 फरवरी, 2003 को उनका अंतरिक्ष यान पृथ्वी की ओर लौट रहा था। दुर्भाग्य से पृथ्वी के वातावरण में प्रवेश करते ही यान दुर्घटनाग्रस्त हो गया और कल्पना चावला अपने 6 साथियों के साथ चल बसीं।

(6) पी. टी. उषा : ‘उड़नपरी’ और ‘स्वर्णबाला’ के नामों से प्रसिद्ध पी. टी. उषा भारत की महान धाविका हैं। इनका जन्म 27 जून, 1964 को कोझिकोड़ा में हुआ था। कोच माम्बियार ने इनकी प्रतिभा को पहचाना और इन्हें प्रशिक्षण दिया।
GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स 6
विभिन्न दौड़ प्रतियोगिताओं में इन्होंने अनेक स्वर्ण और रजत पुरस्कार जीते। सन् 1986 के एशियन खेलों में इन्होंने 4 स्वर्ण पदक जीतकर देश का गौरव बढ़ाया।

GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स

प्रश्न 9.
चित्र के आधार पर काव्य लिखिए :
उत्तर :
GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स 7
कितना सुंदर प्यारा फूल,
देखो, रहा हवा में झूल।
मधुर मधुर इसकी मुस्कान,
यह तो है बाग की शान।

प्रश्न 10.
निम्नलिखित शब्दों का लिंग-परिवर्तन कीजिए :
(1) साधु
(2) कुतिया
(3) युवक
(4) पुत्र
(5) पड़ोसिन
(6) बाघ
(7) ठाकुर
(8) संन्यासी
(9) सम्राट
(10) वर
उत्तर :
(1) साध्वी
(2) कुत्ता
(3) युवती
(4) पुत्री
(5) पड़ोसी
(6) बाघिन
(7) ठकुराइन
(8) संन्यासिनी
(9) सम्राज्ञी
(10) वधू

GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स

अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स Summary in Hindi

महिलाएं किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं : आज महिलाएँ हर क्षेत्र में पुरुषों की बराबरी कर रही हैं। अंतरिक्ष के क्षेत्र में भी उन्होंने कदम रखें हैं। भारत के राकेश शर्मा, कल्पना चावला और सुनीता विलियम्स सफल अंतरिक्षयात्री के रूप में प्रसिद्ध हैं।

भारतीय मूल की सुनीता विलियम्स : सुनीता भारतीय नागरिक नहीं हैं, परंतु । उनके पिता डॉ. दीपकभाई पंड्या गुजरात से अमरीका जाकर बस गए। इसलिए सुनीता पर गुजरात और भारत को भी गर्व हैं।

जन्म और बचपन : सुनीता का जन्म 19 दिसंबर, 1965 को अमरीका के ओह्यो नगर में हुआ था। उनका बचपन अमरीका के मुक्त वातावरण में बीता। दौड़, तैराकी, घुड़दौड़ और धनुर्विधा जैसे साहसभरे खेलों में उनकी रुचि रही।

आर्मस्ट्रोंग से प्रेरणा : छः वर्ष की उम्र में सुनीता ने अमरीकी यात्री नील आर्मस्ट्रोंग को चाँद की धरती पर उतरते देखा। उन्होंने ऐसा ही कोई साहसभरा काम करने का निश्चय किया।

शिक्षण और प्रशिक्षण : सुनीता ने मैसाचूसेट्स में हाईस्कूल पास कर, यूनाइटेड स्टेट्स नेवल अकादमी मेरीलैंड से भौतिक विज्ञान में स्नातक और परास्नातक किया। 1987 में वे नेवल अकादमी से व्यावसायिक अनुभव के लिए जुड़ीं। कई तरह के प्रशिक्षणों में सफल होकर वे ऑफिसर इनचार्ज बन गई।

GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स

अंतरिक्ष में जाने का स्वप्न : सुनीता की तीव्र इच्छा अंतरिक्ष में जाने की थीं। इसलिए वे नासा गई। वहाँ वे अंतरिक्षयात्री कार्यक्रम के दूसरे प्रयास में चुनी गईं। आठ साल तक उन्हें कड़ा प्रशिक्षण दिया गया।

पंड्या से विलियम्स : सुनीता ने अपने मित्र और सहपाठी माइकल विलियम्स से विवाह किया। इस तरह वे सुनीता पंड्या से सुनीता विलियम्स बन गईं।

अंतरिक्ष स्टेशन में : 10 दिसंबर, 2006 को अटलांटिस अंतरिक्ष यान से सुनीता अपने 6 साथियों के साथ अंतरिक्ष स्टेशन पहुंची। यह अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष अड्डा है और पृथ्वी से 360 किलोमीटर की दूरी पर है। 17 दिसंबर को उन्होंने अंतरिक्ष में चहलकदमी की।

कार्य : सुनीता 194 दिन, 18 घंटे और 58 मिनट अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष में रहीं। इस दरम्यान उन्होंने ह्यूमन लाइफ साइंस (मानव जीवन विज्ञान), फिजिकल साइंस (भौतिक विज्ञान), पृथ्वी का निरीक्षण, शिक्षा और टेक्नोलॉजी डेमोन्स्ट्रेशन जैसे विषयों पर काम किया। इस दौरान जमा किए हुए ब्लड सैंपल सुनीता ने न्यूट्रिशन से संबंधित अनुसंधान करनेवाले वैज्ञानिकों तक पहुँचाए।

अंतरिक्षयात्रा की समस्याएँ : अंतरिक्षयात्रा में सोना मुश्किल होता है। रोज डिब्बाबंद भोजन खाना पड़ता है। शरीर का वजन कम हो जाने से भारहीनता का अनुभव होता है। शरीर का लचीलापन तेजी से खत्म होने लगता है। मांसपेशियों और हड्डियों को भी क्षति पहुँचती है।

अंतरिक्ष से पृथ्वी का दृश्य : सुनीता बताती हैं कि अंतरिक्ष से पृथ्वी बहुत सुंदर और शानदार दिखाई देती है। वहाँ से विश्व सीमाओं में बँटा हुआ नहीं दिखाई देता। कितना अच्छा हो यदि पृथ्वीवासी आपस में भेदभाव न रखें और विवादों से दूर रहें।

GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स

वापसी : 22 जून, 2007 को अंतरिक्षयान ‘अटलांटिस’ द्वारा सुनीता विलियम्स अपने साथियों के साथ सकुशल धरती पर लौटीं। अपनी अंतरिक्षयात्रा में सुनीता ने कई रिकॉर्ड बनाए।

अहमदाबाद में : 20 सितंबर, 2007 को सुनीता विलियम्स अहमदाबाद आईं। यहाँ उनका भव्य स्वागत किया गया।

अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स Summary in English

Women are not inferior in any field : Today women work as efficiently as men in any field of life. Rakesh Sharma, Kalpana Chawala and Sunita Williams of India are famous as space travellers.

Sunita Williams is originally Indian : Sunita is not a citizen of India, but her father Dr Dipak Pandya, from Gujarat had settled in America. So Gujarat and India are proud of Sunita.

Sunita’s birth and childhood : Sunita was born on 19th December, 1965 in Ohio at America. She passed her childhood in free atmosphere. She was interested in adventurous activities like running, swimming, horse-riding and archery.

GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स

Inspiration from Armstrong : When Sunita was six years old, she saw American space traveller Neel Armstrong landing on the moon. Sunita also determined to do such adventurous expedition.

Education and training : Sunita completed her high school education in Massachusetts. She got degrees of graduation and post graduation in physics from Maryland, United States Naval Academy. She joined Naval Academy in 1987 with the view of getting business experience. After getting success in it, she got helicopter training and was appointed as an incharge officer.

A dream of space journey : Sunita had a keen desire of space journey, so she went to NASA. There, she was selected as a space traveller in her second attempt. She was given a hard training for eight years.

Williams from Pandya : Sunita married her friend and classmate Michael Williams. In this way she became Williams from Pandya.

At the space station : On 10th December, 2006 Sunita reached the space station with her six colleagues’ by Atlantic Space Yan. It is an international space meeting place which is 360 kms far away from the earth. Sunita walked in space on 17th December.

Work in space centre : Sunita lived in space centre for 194 days, 18 hours and 58 minutes. During this period she worked on Human Life Science, Physics Science, observation of the earth, Education and Technology demonstration etc. During this period she had collected blood samples which she sent to the scientists working on nutrition related research.

GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स

Problems of space journey : It is difficult to sleep in space journey. They have to eat the food packed in a tin.

विषय-प्रवेश
मनुष्य की महत्त्वाकांक्षाओं की कोई सीमा नहीं है। उसकी दृष्टि आकाश की ओर गई और उसे अंतरिक्ष के रहस्यों को जानने की इच्छा हुई। इस तरह अंतरिक्षयात्राओं की शुरुआत हुई। कई देशों के युवक अंतरिक्षयात्रा पर गए। इस पाठ में भारतीय मूल की सुनीता विलियम्स नामक महिला की सफल अंतरिक्षयात्रा के बारे में बताया गया है। साथ ही अंतरिक्षसंबंधी रोचक बातों की चर्चा की गई है।

शब्दार्थ (Meanings)
उत्तेजना – आवेश; excitement गौरव – शान; glorious, pride बेड़ी – बंधन, लोहे की जंजीर; a chain, a bondage अस्तित्व – हस्ती; existence, life Hichle – 347Ram; having a shape, incarnate क्षमता – शक्ति, सामर्थ्य; efficiency, strength अंतरिक्ष – आकाश, अवकाश; space प्रतिष्ठा – सम्मान; fame, renown, reputation हौसला – उत्साह; enthusiasm बुलन्दी – ऊँचाई; height दिवास्वप्न – दिन में दिखाई देनेवाला स्वप्न; a day-dream मुकाम – लक्ष्य, मंजिल; aim, goal मूल – जड़; a root सदा – हमेशा; always न्यूरोसर्जन – मस्तिष्क की सर्जरी करनेवाला चिकित्सक; a Neuro surgeon मैसाचूसेट्स – अमरीका का एक राज्य; a state of America, Massachusetts युगोस्लाविन-युगोस्लाविया देश की; Yugoslavian मुक्त – खुला, आजाद; free, independent वृत्ति – मन की अवस्था, आस्था, भावना; feeling चहेती- प्रिय, लाड़ली; dear संकल्प – इरादा; determination स्नातक – कक्षा बारहवीं के बाद तीन साल के अभ्यास के बाद मिलनेवाली उपाधि; a degree of graduation परास्नातक – स्नातक होने के बाद दो साल के अभ्यास के बाद मिलनेवाली उपाधि; a degree which is given after two years course,post graduate चयनित करना – चुनना; to choose कार्यरत – कार्य में लगे रहना, कार्य में व्यस्त; busy सहाध्यायी – सहपाठी, साथ में पढ़नेवाला; classmate प्रेरणास्रोत – प्रेरणा देनेवाला; giving inspiration, inspiring बेहद – अत्यन्त; too much रुचि – दिलचस्पी; interest सुखद – सुख देनेवाला; giving happiness, giving delight लगाव-दिलचस्पी; attachment कड़ा- सख्त, कठिन; hard, difficult प्रशिक्षण – विशेष प्रकार की शिक्षा; a special training आसान – सरल; easy दिक्कत – तकलीफ; difficulty, trouble गोताखोरी- गहरे समुद्र में डुबकी लगाना; diving into the sea स्पेसवॉक – अंतरिक्ष में चलना; spacewalk अनुसंधान – खोज, आविष्कार; research नजरिया- दृष्टिकोण, देखने का तरीका; the angle of vision.

मुहावरे-अर्थ और वाक्य-प्रयोग

प्रश्न 1.
परंपराओं की बेड़ी तोड़ना – पुरानी परंपराओं को छोड़कर नई परंपरा स्थापित करना
वाक्य :
पुरानी परंपराओं की बेड़ी तोड़ने से ही नए समाज की रचना होगी।

प्रश्न 2.
अस्तित्व को साकार रूप देना – व्यक्तित्व निखारना
वाक्य :
शिक्षा नारी के अस्तित्व को साकार रूप देती हैं

GSEB Solutions Class 8 Hindi Chapter 3 अंतरिक्ष परी सुनीता विलियम्स

प्रश्न 3.
यादें ताजा होना- पुरानी बातें याद आना
वाक्य :
कभी-कभी बचपन की यादें ताजा हो जाती हैं।

प्रश्न 4.
एक सूत्र में पिरोना – सबको साथ में रखना
वाक्य :
भारतीय होने की भावना सभी प्रांतवासियों को एक सूत्र में पिरोती है

प्रश्न 5.
खतरों से खेलना – भयावह परिस्थितियों से टक्कर लेना, खतरनाक स्थितियों का सामना करना
वाक्य :
समुद्री यात्रियों को खतरों से खेलना पड़ता है

प्रश्न 6.
सर ऊँचा होना – गर्व होना
वाक्य :
हम ऐसे काम करें जिनसे देश का सर ऊँचा हो

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *